Saturday , January 28 2023

…तो इसलिए अयोध्या-मथुरा नहीं गोरखपुर से चुनाव लड़ेंगे योगी आदित्यनाथ?

लखनऊ. UP Elections 2022- पांच साल के कार्यकाल में 42 बार Ayodhya का दौरा करने वाले मुख्यमंत्री Yogi Adityanath अयोध्या से नहीं बल्कि अपने गृह जनपद Gorakhpur से ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। शनिवार को घोषित BJP की पहली लिस्ट में योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर शहर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। इससे पहले योगी के राम की नगरी अयोध्या और कृष्ण के धाम Mathura से चुनाव लड़ने की अटकलें थीं। भाजपा आलाकमान ने सोची समझी-रणनीति के तहत योगी को गोरखपुर से टिकट दिया है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या या मथुरा दोनों सीटों पर योगी आदित्यनाथ को मेहनत करनी पड़ती, लेकिन गोरखपुर शहर सीट उनका गढ़ रही है। वह खुद गोरखपुर लोकसभा सीट से पांच बार सांसद और उनके करीबी राधा मोहनदास अग्रवाल बीते चार चुनावों में (2002, 2007, 2012 और 2017) गोरखपुर शहर सीट से विधायक चुने जाते रहे हैं। कहा यह भी जा रहा है कि पूर्वांचल में सपा के साइकिल की रफ्तार थामने के लिए उन्हें गोरखपुर से चुनाव लड़ाया जा रहा है।

गोरखपुर शहर विधानसभा सीट को भारतीय जनता पार्टी का गढ़ माना जाता है। भाजपा अब तक इस सीट से अविजित रही है। योगी को गोरखपुर से चुनाव लड़वाकर भाजपा गोरखपुर-बस्ती मंडल की 41 सीटों पर जीत पक्की करना चाहती है। 2017 के विधानसभा चुनाव में इस मंडल की 37 सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की थी। खासकर गोरखपुर जिले की 9 में 8 सीटों पर कमल खिला था। इस बार योगी आदित्यनाथ के कंधे पर 2017 के प्रदर्शन को दोहराने की जिम्मेदारी होगी। चर्चा यह भी है कि अयोध्या में चल रहे निर्माण कार्य को लेकर लोगों की नाराजगी है। कहीं लोगों में जमीन अधिग्रहण को लेकर गुस्सा है तो कहीं दुकान खाली कराये जाने को लेकर।

यह भी पढ़ें : बीजेपी की पहली लिस्ट में 20 फीसदी विधायकों के कटे टिकट, इन नेता पुत्रों पर फिर से दांव, योगी-केशव की भी सीट तय

नजर पूर्वांचल पर
राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि योगी आदित्यनाथ अगर गोरखपुर की बजाय मथुरा या अयोध्या से चुनाव लड़ते तो पूर्वांचल में बीजेपी को बड़ा नुकसान हो सकता है। 2017 के विधानसभा चुनावों में यहां से बीजेपी को एकतरफा जीत मिली थी लेकिन इस बीते कुछ महीनों से यहां साइकिल रफ्तार पकड़ रही है। ऐसे में यहां योगी की मौजूदगी विपक्षी दलों की राह और मुश्किल करेगी।

अखिलेश यादव का तंज
सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी के टिकट पर तंज कसते हुए कहा है कि कभी कहते थे मथुरा से लड़ेंगे, कभी कहते थे अयोध्या से लड़ेंगे। कभी कहते थे प्रयागराज से लड़ेंगे, कभी कहते थे देवबंद से लड़ेंगे। मुझे खुशी है इस बात की कि भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें पहले ही उनके घर भेज दिया। अब मुझे लगता है कि उन्हें गोरखपुर में ही रहना पड़ेगा। वहां से उन्हें वापस आने की जरूरत नहीं है। उन्हें घर जाने पर बहुत बहुत बधाई।

यह भी पढ़ें : बीजेपी की पहली लिस्ट में सामान्य और ओबीसी पर दांव, दलितों को भी टिकट, मुस्लिम चेहरे नदारद