Tuesday , February 7 2023

यूपी में कौन होगा कांग्रेस का अगला अध्यक्ष? घोषणा जल्द, पार्टी आलाकमान कार्यकर्ताओं से जुटा रहा फीडबैक

लखनऊ. कांग्रेस पार्टी यूपी चुनाव 2022 में हार के कारणों की समीक्षा कर रही है। मंडलवार कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया जा रहा है, फाइनल रिपोर्ट पार्टी आलाकमान को सौंपी जाएगी। इसके बाद यूपी के नये प्रदेश अध्यक्ष के नाम की भी घोषणा की जाएगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह हार की समीक्षा कर रहे हैं। गौरतलब है कि यूपी चुनाव में कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है, पार्टी के सिर्फ दो कैंडिडेट ही विधायक बन सके और वोट प्रतिशत में काफी गिरावट देखी गई। हार के बाद खुद की सीट न बचा पाने वाले यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने इस्तीफा दे दिया। अब नये नामों को लेकर अटकलें तेज हैं। इनमें प्रमोद तिवारी, निर्मल खत्री और आचार्य प्रमोद कृष्णम के नाम सबसे ऊपर हैं।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह आज सुल्तानपुर, बस्ती, संत कबीर नगर, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, अयोध्या, आंबेडकरनगर, लखीमपुर खीरी, शाहजहाँपुर और पीलीभीत के कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। इसके अलावा सेवादल, यूथ कांग्रेस, महिला कांग्रेस, राष्ट्रीय छात्र संगठन के साथ अल्पसंख्यक, अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग विभाग के पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे। इसके बाद झांसी और वाराणसी में भी विभिन्न ज़िलों के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक होगी। शुक्रवार को उन्होंने लखनऊ, बाराबंकी, प्रतापगढ़, अमेठी, रायबरेली, बहराइच, उन्नाव, कानपुर, कानपुर देहात, हरदोई, सीतापुर, श्रावस्ती, बलरामपुर और गोंडा के कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी।

महंगाई और बेरोज़गारी जैसे मुद्दों से कांग्रेस ही दिला सकती है निजात: भंवर जितेंद्र सिंह
लखनऊ में शुक्रवार को प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए भंवर जितेंद्र सिंह ने कहा है कि पार्टी इस समय चुनाव परिणाम को लेकर विशद समीक्षा में जुटी हुई है। जल्द ही पार्टी को मज़बूत करने की नयी रणनीति के साथ काम शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन को लेकर कार्यकर्ता और पार्टी के नेता अपनी राय दे रहे हैं और भविष्य की रणनीति को लेकर भी बात की जा रही है। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि जिस तरह से महंगाई और बेरोज़गारी जैसे मुद्दों ने आम आदमी की ज़िंदगी को बेहाल कर रखा है उससे निजात सिर्फ कांग्रेस ही दिला सकती है। प्रेस कान्फ्रेंस में कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सत्यनारायण पटेल, राजेश तिवारी, मीडिया विभाग के चेयरमैन नसीमुद्दीन सिद्दीकी सहित पार्टी के कई नेता मौजूद थे।