Tuesday , February 7 2023

कौन हैं डीएम अपूर्वा, गाय की देख-रेख को डॉक्टरों की टीम लगाने के पीछे क्या है सच्चाई?

लखनऊ. फतेहपुर की जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे (Fatehpur DM Apurva Dubey) इन दिनों अचानक सुर्खियों में आ गई हैं। वजह है कि अपनी गायों के पीछे डॉक्टरों की पूरी टीम लगाने का। जिसके लिए सीएमओ द्वारा जारी किए गए आदेश का एक पत्र सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। मामला सोशल मीडिया पर खूब उठा। कई लोगों ने इसको लेकर जिलाधिकारी पर निशाना साधा। हालांकि अब खुद जिलाधिकारी ने सामने आकर ऐसे किसी भी आदेश की खबर को सिरे से खारिज किया है।

उन्होंने कहा कि उनके पास या उनके परिवार के पास कोई गाय नहीं है और न ही उनका इस पत्र से कोई लेना देना है। हां, उन्होंने पिछले कुछ महीनों से भीषण गर्मी की वजह से यह जरूर सुनिश्चित किया है कि गायों को उचित और समय पर चारा मिले। उन्होंने आगे कहा कि गायों की देखरेख के लिए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी व उनके डिप्टी दोनों को लापरवाही का दोषी पाया गया है। व उनके खिलाफ कार्रवाई भी की गई। इस कारण यह पत्र उन्हीं की मेरे खिलाफ साजिश का हिस्सा है। यह उनकी खोखली मानसिकता को दर्शाता है।

ये भी पढ़ें- Bulldozer Action- यूपी में कार्रवाई को लेकर औवैसी, अखिलेश, मायावती ने घेरा योगी सरकार को, प्रयागराज मकान ध्वस्तीकरण मामला पहुंचा कोर्ट

कौन हैं अपूर्वा दुबे?

अपूर्वा दुबे यूपी के देवरिया की रहने वाली है, हालांक उनका जन्म लखनऊ में हुआ था। अपूर्वा दुबे की स्कूली पढ़ाई अरुणाचल प्रदेश ईटानगर के स्कूल विवेकानंद केंद्र विद्यालय से हुई है। ग्रेजुएशन दिल्ली यूनिवर्सिटी के वेंकटेश्वर कॉलेज किया है। डीयू से ही उन्होंने एलएलबी भी किया। ग्रेजुएशन के बाद अपूर्वा दुबे ने यूपीएससी की तैयारी शुरू की थी। वह 2013 बैच की आईएएस अफसर हैं। उन्होंने दूसरे अटेंप्ट में ही यूरीएससी परीक्षा पास कर ली थी। वह कानपुर नगर के जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर की पत्नी है। उनके पिता संजय दुबे प्रसार भारती नई दिल्ली में अतिरिक्त महानिदेशक थे।

क्या था मामला-

दरअशल फतेहपुर सीएमओ डॉ एसके तिवारी द्वारा एक लिखित आदेश की कॉपी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसमें कहा गया है कि डीएम की गाय की चिकित्सा करने के लिए निम्नलिखित पशु चिकित्सा अधिकारी की प्रतिदिन सुबह-शाम की ड्यूटी लगायी गई है। साथ ही सनगांव के पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ दिनेश कुमार से समंवय स्थापित कर प्रतिदिन सुबह-शाम देखने की सूचना अधोहस्ताक्षरी के दफ्तर में शाम 6 बजे तक फोन के जरिए अवगत कराएंगे।