Tuesday , February 7 2023

हफ्ते में 3 दिन छुट्टी और चार दिन नौकरी के नियम को लेकर बड़ी खबर, जानें आपकी जॉब पर क्या होगा इसका असर


दिल्ली. New Wage Code: नए वेज कोड के तहत केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार का प्‍लान देशभर में हफ्ते में 3 द‍िन की छुट्टी और 4 द‍िन काम करने का कानून लागू करने का है, लेक‍िन 1 जुलाई 2022 से लागू होने वाला नया लेबर कोड (New Labor Code) फ‍िलहाल अटक गया है। दरअसल केंद्र सरकार की मंशा थी क‍ि इस कानून को देशभर में एक साथ ही एक ही तारीख पर लागू क‍िया जाए, लेक‍िन इस पर सहमत‍ि नहीं बनने से यह अभी लागू नहीं हो पाया।

1 जुलाई से होना था लागू
दरअसल नौकरीपेशा के ल‍िए चार बड़े बदलाव के साथ केंद्र सरकार कानून लेकर आई है। देश के 23 प्रदेश नए लेबर कोड के प्री-पब्‍ल‍िशड ड्रॉफ्ट पर समहत हो गए हैं, लेक‍िन बाकी के राज्‍यों ने इसे अभी तक अपनाया नहीं है। इस वजह इसे 1 जुलाई से लागू नहीं क‍िया जा सका। नए लेबर कोड में हफ्ते में 3 द‍िन की छुट्टी और 4 द‍िन काम करने का प्रावधान है। इसके अलावा इसमें इन हैंड सैलरी पर भी असर पड़ेगा।

घटेगी इन हैंड सैलरी
नए वेज कोड लागू होने पर कर्मचार‍ियों की इन हैंड सैलरी घट जाएगी। मौजूदा स्‍ट्रक्‍चर में कर्मचारी की सैलरी में बेस‍िक सैलरी (Basic Salary) 30 से 40 प्रत‍िशत तक होती है। इसके अलावा स्‍पेशल अलाउंस, एचआरए, पीएफ समेत कई दूसरी चीजें भी होती हैं, लेक‍िन नए स्‍ट्रक्‍चर में बेस‍िक सैलरी सीटीसी की 50 प्रत‍िशत होगी। यानी इसका सीधा असर आपके पीएफ और ग्रेच्‍युटी पर भी पड़ेगा।

काम के घंटे भी बढ़ेंगे
हफ्ते में 4 द‍िन काम और 3 द‍िन की छुट्टी का न‍ियम लागू होने से कंपन‍ियों में प्रत‍िद‍िन काम करने के घंटे बढ़ जाएंगे। इस कानून के लागू होने पर हर द‍िन 12-12 घंटे काम करना होगा। इसके तहत हर हफ्ते 48 घंटे काम करना जरूरी है। चार द‍िन की वर्क‍िंग में रोजाना 12 घंटे काम करने का प्रावधान है।

फुल एंड फाइनल सेटलमेंट भी दो दिन में करना होगा
नए वेज कोड में अगर आप मौजूदा कंपनी से नौकरी छोड़ते हैं तो कंपनी को आपका दो द‍िन में फुल एंड फाइनल ह‍िसाब करना होगा। इसमें प्रावधान है क‍ि कर्मचारी के कंपनी छोड़ने, बर्खास्‍तगी या छंटनी आद‍ि क‍िसी भी स्‍थ‍ित‍ि में दो द‍िन में उसका फुल एंड फाइनल ह‍िसाब करना होगा। अभी कंपन‍ियां इसमें 30 से 60 द‍िन का समय लेती हैं।