Saturday , January 28 2023

Water Harvesting Structure: जल संरक्षण की दिशा में बड़ी पहल, यहां बना वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर, केंद्रीय मंत्री Giriraj Singh ने की सराहना

बाराबंकी. Water Harvesting Structure: जल है तो कल है… इसी सोच के साथ बाराबंकी जिले में जल संरक्षण की दिशा में बड़ी पहल हुई है। दरअसल बारिश का ज्यादातर जल यूहीं बहकर बर्बाद हो जाता है। इससे पर्याप्त भू-जल रिचार्ज नहीं हो पाता है। इस वजह से अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी भू-जल स्तर लगातार नीचे जा रहा है और अक्सर गर्मी के मौसम में जलसंकट के कारण लोगों को पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ता है। लेकिन अब गर्मी में ऐसी स्थिति न हो इसे ध्यान में रखते हुए बड़ी पहल की शुरुआत हुई है और बाराबंकी जिले के पंचायत भवनों, सरकारी विद्यालयों और कार्यालयों में मनरेगा के तहत रूफ टॉप पर रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जा रहा है। जिससे वर्षा जल की बर्बादी रोकी जा सके। वहीं जिले में शुरू हुई इस पहल की केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh Tweet) नेभी ट्वीट करके सराहना की है।


बारिश का पानी नहीं होगा बर्बाद
बारिश का पानी बर्बाद होने से बचाने के साथ उसको संचयन करने की ऐसी ही पहल के तहत बाराबंकी जिले में ग्राम पंचायत स्तर पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाए जाने शुरू हो गए हैं। इसी के तहत बाराबंरकी जिले के विकासखंड निंदूरा की ग्राम पंचायत गड़िया के पंचायत भवन के रूफ टॉप पर मनरेगा के तहत रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर का निर्माण किया गया है। इसके अलावा ग्राम प्रधान गीता देवी शुक्ला के प्रयासों से मनरेगा के तहत यहां एक शानदार आदर्श पार्क भी बना है। जो जिले भर में मिसाल बन गया है। यहां के पंचायत भवन के रूफ टॉप पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर का निर्माण होने से यहां बड़ी मात्रा में वर्षा जल का भंडारण किया जा रहा है। जिससे गर्मी के मौसम में गांव के लोगों को जल संकट के कारण पानी के लिए दर-दर भटकना न पड़े। वहीं जिले में इस तरह की पहल की केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी सराहना की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि कि पंचायत भवन के रूफ टॉप पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर के निर्माण से बारिश के जल को बचाकर उससे धरती के गिरते जलस्तर को सुधारा जा सकेगा। इस तरह की पहल पूरे देश में की जा रही है।


पंचायत भवन के रूफ टॉप पर लगा स्ट्रक्चर
वहीं पंचायत भवन के रूफ टॉप पर मनरेगा के तहत रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर के निर्माण और आदर्श पार्क बनाने को लेकर गड़िया के निवासी रामू शुक्ला, रितेश गुप्ता, राम निवास बाजपेई, प्रधान पति मनोज शुक्ला ने अपनी ग्राम प्रधान और केंद्र व राज्य सरकार के साथ जिले के अधिकारियों का धन्यवाद किया। ग्रामीणों का कहना है कि उनकी ग्राम पंचायत का पंचायत भवन, उसके रूफ टॉर पर लगा वार्ट हार्वेस्टिंग सिस्टम और पार्क पूरे जिले के लिये आदर्श बन गया है। क्योंकि उनके गांव जैसा पंचायत भवन शायद ही जिले में और कहीं बना हो। वहीं ग्राम प्रधान गीता देवी शुक्ला ने बताया कि केंद्र और राज्य सरकार के साथ जिले के अधिकारियों का साथ मिलने से यह सब संभव हो सका है। उनकी ग्राम पंचायत जिले में आदर्श बन गई है। जो उनके लिये काफी खुशी की बात है।


मनरेगा के तहत हुआ काम
वहीं बाराबंकी डीसी मनरेगा बृजेश कुमार त्रिपाठी ने बताया बाराबंकी जिले के निंदूरा विकास खंड की ग्राम पंचायत गड़िया के पंचायत भवन के रूफ टॉप पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर का निर्माण मनरेगा के तहत कराया गया है। उनका कहना है कि इससे बारिश के जल को बचाकर उससे धरती के गिरते जलस्तर को सुधारा जा सकेगा। डीसी मनरेगा के मुताबिक इस की पहल के तहत जिले भर के सभी पंचायत भवनों, सरकारी स्कूलों और कार्यालयों के रूफ टॉप पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर का निर्माण कराया जा रहा है। जिसे धरती के गिरते जल स्तर को सुधारा जा सके।