Wednesday , February 8 2023

Vastu Tips: अगर बार-बार हो रहे गर्भपात से हैं परेशान, तो अपने घर में तुरंत करें यह जरूरी बदलाव

Vastu Tips For Santan Prapti: हम घर बनाते समय कई बार वास्तु का ध्यान नहीं रखते हैं। जिसके बाद तरह-तरह की समस्याओं का सिलसिला शुरू हो जाता है। ऐसे में बेहद जरूरी है कि हम वास्तु शास्त्र के मुताबिक अपने घर को बनवाएं, क्योंकि घर के वास्तु का असर सीधा हमारे जीवन पर पड़ता है। संतान प्राप्ति की चाह रखने वाले दंपत्ति पर भी घर के वास्तु का सीधा असर होता है। ऐसे में संतान प्राप्ति की चाह रखने वाले जोड़ों और गर्भवती महिलाओं को कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि ऐसा नहीं करने पर उन्हें इससे परेशानी भी हो सकती है।

न लगायें ऐसी तस्वीरें
वास्तु शास्त्र के मुताबिक गर्भवती महिला के कमरे में मन को विचलित करने वाली तसवीरें भूल से भी नहीं लगानी चाहिए। ऐसी फोटो जिसमें नकारात्मकता झलकती हो और मन व्यथित हो जाता हो जैसे डूबती नाव, खतरनाक जानवरों की तस्वीर, विभत्स कैरीकेचर, समस्याओं या गूढ़ मैसेज से जुड़ी पेंटिंग और उदास तस्वीर लगाने से बचना चाहिए। वास्तु शास्त्र के मुताबिक नव दंपति को या किसी विवाहित जोड़े को सही दिशा में ही अपना बेड लगाना चाहिए। बिस्तर लगाते समय इस बात का ध्यान रखें कि बेड छत की बीम के ठीक नीचे न हो। इससे गर्भधारण में समस्या और यदि गर्भधारण हो गया है, तो 2-3 माह में गर्भपात की समस्या हो सकती है।

दिशाओं का समझें महत्व
वास्तु शास्त्र के मुताबिक दिशाओं का बड़ा महत्व है। कोई भी काम सही दिशा में करने से उसके सही और गलत दिशा में करने से गलत परिणाम मिलते हैं। आपको बता दें कि दिशा दोष भी प्रेगनेंसी में एक बड़ी समस्या साबित हो सकती है। ऐसे में संतान प्राप्ति की चाह रखने वाले जोड़े को सोते समय दिशा का विशेष ध्यान रखना चाहिए। उत्तर-दक्षिण या दक्षिण-उत्तर दिशा की तरफ पैर या सिर करके न सोएं। वहीं पत्नी को हमेशा पति के बाईं तरफ ही सोना चाहिए।वास्तु शास्त्र के मुताबिक, संतान प्राप्ति की चाहत रखने वालों को अपने बेडरूम में भगवान श्री कृष्ण की फोटो या मूर्ति जरूर रखनी चाहिए। हर मां नटखट कृष्ण जैसी संतान की कामना करती है।

इस मंत्र का करें जाप
चिकित्सा विशेषज्ञों के मुताबिक गर्भवती महिलाओं को व्रत नहीं करना चाहिए। व्रत करने से बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है। भगवान कभी भी शरीर को कष्ट देकर हठयोग या व्रत करने को नहीं कहते, क्योंकि वह आपके शरीर में खुद ही मौजूद हैं। वहीं जानकारों की अगर मानें तो पति-पत्नी में से किसी एक को पूरी श्रद्धा और भक्ति के साथ प्रतिदिन एक मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए। आपको बता दें कि पूरे एक साल तक ऐसा करने से संतान प्राप्ति की मनोकामना पूरी होती है। ये है मंत्र…

“देवकी सुत गोविन्द वासुदेव जगत्पते
देहि में तनयं कृष्ण त्वामहं शरणंगता”