Tuesday , February 7 2023

सफाईकर्मी नहीं तो क्या बच्चे करेंगे सफाई? देखिये यूपी के इस सरकारी स्कूल में पढ़ाई से पहले होता है यह काम

बाराबंकी. UP Primary School: उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। यहां शिक्षा के मंदिर में बच्चों के हाथ में किताबों की जगह झाड़ू नजर आती है। ऐसे में खुद ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि इन स्कूलों में किस तरह बच्चों की शिक्षा का बंटाधार किया जा रहा है। जबकि शिक्षक इसके पीछे स्कूल में सफाईकर्मी के न आने का तर्क दे रहे हैं। लेकिन शायद वह ये भूल गये हैं कि बच्चों के हाथों में पेंसिल और कॉपी-किताब की जगह झाड़ू थमाना उनको ही सफाई कर्मी बनाने जैसा है। वहीं स्कूल में बच्चों के झाड़ू लगाने का किसी ने वीडियो बना लिया, जो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

सरकारी स्कूल में बच्चे लगा रहे झाड़ू
पूरा मामला विकासखंड निंदूरा के प्राथमिक विद्यालय सिरसईपुर विद्यालय का है। जहां विद्यालय में सफाई कर्मी नहीं बल्कि पढ़ाई शुरू करने से पहले बच्चे झाड़ू लगाते हैं। स्कूल के दरवाजे खुलते ही शिक्षक बच्चों को झाड़ू थमा देते हैं। और तो और इसके पीछे की वजह आपको और हैरान कर देगी। दरअसल स्कूल के शिक्षकों का कहना है कि विद्यालय में सफाई के लिये तैनात सफाईकर्मी राजकुमार नहीं आता। इसलिये बच्चे वहां झाड़ू लगा रहे हैं। खैर वजह जो भी हो लेकिन एक तरफ सरकार पानी की तरह पैसा बहाकर सरकारी स्कूलों की दिशा और दशा दोनों बदलने में लगी है। तो वहीं दूसरी तरफ बच्चों को पढ़ाने की जिम्मेदारी लेने वाले शिक्षक ही सरकार की सारी कोशिशों पर पानी फेरने का काम कर रहे हैं और बच्चों के हाथ में किताबों की जगह झाड़ू थमा रहे हैं।

बीएसए ने कार्रवाई का दिया आश्वासन
वहीं इस मामले में बाराबंकी के बीएसए संतोष देव पाण्डेय ने बताया कि स्कूल में बच्चों के झाड़ू लगाने का वीडियो वायरल हो रहा है। पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। जांच रिपोर्ट के आधार पर जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त से सख्स कार्रवाई की जाएगी।