Monday , January 30 2023

UP Election Results 2022: लाभार्थियों ने ध्वस्त कर दिया जातीय समीकरण, साइलेंट वोटर्स ने बीजेपी को दिलाई प्रचंड जीत

लखनऊ. UP Election Results 2022- उत्तर प्रदेश में भाजपा गठबंधन ने 273 सीटों पर ऐतिहासिक जीत दर्ज कर विपक्ष की उम्मीदों पर बुलडोजर चला दिया है। 2022 के नतीजों ने बता दिया कि चुनाव प्रचार के दौरान विपक्ष सिर्फ हवा बनाता रहा जबकि भाजपा जमीन मजूबत करती रही। सरकार बनने पर निपट लेने और देख लेने वाले अग्रेसिव बयानों ने सपा को काफी नुकसान पहुंचाया जिसे मोदी-योगी के बयानों ने और धार दी कि ये लोग सत्ता में आये तो फिर से माफियाओं और गुंडों का राज होगा। सुरक्षा को मुद्दा बनाते हुए भाजपा लोगों को सपा का कार्यकाल याद दिलाने में सफल रही। चुनाव में साइलेंट वोटर की भूमिका काफी अहम रही, जिनको पढ़ने में बड़े-बड़े राजनीतिक पंडित फेल हो गये। उन्होंने चुप रहकर ही बीजेपी की जीत में बड़ी भूमिका निभाई। राशन (लाभार्थी) और सुशासन के मुद्दों ने विपक्ष के जातीय किलों को ढहा दिया। लाभार्थी वोटरों ने जातीय गोलबंदी को पूरी तरह से नकारते हुए बीजेपी को वोट किया। नतीजन, किसान आंदोलन, छुट्टा पशुओं की समस्या, तिकुनिया हिंसा, हाथरस कांड, बेरोजगारी, महंगाई और कोरोना काल में मौतों के विपक्ष के मुद्दे गौण हो गये। चुनाव के चरणों के हिसाब से बीजेपी ने रणनीतिक बनाकर विपक्षी दलों को चारों खाने चित कर दिया।

वेस्ट यूपी में विपक्ष का हौवा निराधार
पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष की ओर से सरकार के खिलाफ खड़ा किया गया हौवा निराधार साबित हुआ। तमाम दावों के बावजूद मुसलमान और जाट एक मंच पर नहीं आ सके। वेस्ट यूपी की पहले दूसरे चरण की 113 सीटों में से भाजपा ने 74 सीटों पर जीत दर्ज की जबकि 2017 में भाजपा को 91 सीटें मिली थीं।

सपा के गढ़ में खिला कमल
तीसरे चरण में चुनावी संग्राम रुहेलखंड, बुंदेलखंड और यादव बेल्ट के 16 जिलों में था। इस चरण में परिवारवाद, कानून-व्यवस्था और आतंकवाद के मुद्दे पर भाजपा ने सपा को चौतरफा घेरा। इस चरण की 42 सीटों पर जीतकर भाजपा ने सपा को बैकफुट पर धकेल दिया। हालांकि, 2017 में भाजपा को 49 सीटें मिली थीं। इनमें बुंदेलखंड की 16 सीटें भी शामिल हैं, जहां 2017 में बीजेपी ने सभी 19 सीटों पर कमल खिलाया था।

भाजपा ने जीता अवध का रण
चौथे और पांचवें चरण में लड़ाई अवध क्षेत्र में पहुंच चुकी थी। यहां बीजेपी की बढ़त अपेक्षित थी जो मिली भी। अवध की 109 में से भाजपा ने 83 सीट पर जीत दर्ज की है जबकि 2017 में 71 सीट ही मिली थीं। दोनों चरणों की कुल 120 में 91 सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की।

पूर्वांचल में कड़ी टक्कर, बाजी भाजपा ने मारी
छठे चरण का रण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर सहित आसपास के जिलों में था। मंडल की सभी 28 सीटें जीतकर भाजपा ने बता दिया कि यहां विपक्ष की दाल नहीं गलने वाली। अंतिम चरण में चरण में सपा ने जोरदार प्रदर्शन किया, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। अंतिम दो चरणों की 111 में से बीजेपी को 66 और सपा गठबंधन को 39 सीटें मिली। खासकर सातवें चरण की 54 में 28 सीटें समाजवादी पार्टी ने जीती। 2017 में भाजपा को इन दोनों चरणों की 86 सीटों पर जीत मिली थी।

सपा-भाजपा का बढ़ा वोट प्रतिशत
2022 के यूपी चुनाव में भाजपा को 41.38 फीसदी वोट मिले जबकि 2017 में उसे 39.67 फीसदी वोट मिले थे। समाजवादी पार्टी को 32.03 फीसदी वोट मिले जो सपा के इतिहास में अब तक सबसे ज्यादा हैं। पिछली बार सपा को 21.82 फीसदी वोट मिले थे। इस बार बसपा को अब तक के सबसे कम 12.83 फीसदी वोट मिले, 2017 में उसे सपा से ज्यादा 22.23 फीसदी वोट मिले थे। 2017 में कांग्रेस को 6.25 फीसदी मिले थे, लेकिन इस बार उसे सिर्फ 2.5 फीसदी वोट ही मिले हैं।

इन लाभार्थियों ने मोड़ी चुनाव की धारा
42 लाख परिवारों को पक्का मकान
1.61 करोड़ गरीबों के घर बने शौचालय
1.67 करोड़ को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन
2.28 करोड़ लोगों को हर घर नल योजना का लाभ
2.54 करोड़ किसानों को सम्मान निधि
1.42 करोड़ घरों में मुफ्त बिजली
15 करोड़ लोगों को कोरोना काल में मुफ्त राशन
1.18 करोड़ गरीबों को 5 लाख का इलाज
15 करोड़ से अधिक लोगों को मुफ्त वैक्सीनेशन

चुनाव की खास बातें
मंत्री हारे- 11
मुस्लिम जीते- 26
महिलाएं जीतीं- 33 (बीजेपी 25, सपा 08, कांग्रेस 01)
86 रिजर्व सीटें- 60 भाजपा, 08 अपना दल, 14 सपा, 02 सुभासपा, जनसत्ता दल व रालोद 01-01 सीट

24 जिलों में सिर्फ भाजपा
यूपी के 75 में 24 जिले ऐसे हैं, जहां की सभी 127 विधानसभा सीटों पर सिर्फ कमल ही खिला है। इनमें गोरखपुर 9, कुशीनगर 5, देवरिया 7, गोंडा 7, गाजियाबाद 5, गौतमबुद्धनगर 3, हापुड़ 3, उन्नाव 6, बुलंदशहर 7, फर्रुखाबाद 5, कन्नौज 3, पीलीभीत 4, मथुरा 5, आगरा 9, अलीगढ़ 7, एटा 4, वाराणसी 8, रॉबर्ट्सगंज 4, झांसी 4, ललितपुर 2, महोबा 2, हमीरपुर 2, हरदोई 8 और लखीमपुर खीरी 8 हैं।

चार जिलों में सिर्फ सपा गठबंधन
यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में चार जिले ऐसे भी रहे जहां सिर्फ सपा-गठबंधन प्रत्याशियों को ही जीत मिली। भाजपा सहित अन्य दलों का खाता भी नहीं खुला। इनमें आजमगढ़ की सभी 10 सीटें, अंबेडकरनगर की सभी 5 सीटें, कौशांबी और शामली जिले की सभी 3-3 सीटें शामिल हैं।

यूपी विधानसभा चुनाव परिणाम
BJP Alliance
भाजपा- 255
अपना दल- 12

निषाद पार्टी- 06

SP Alliance
समाजवादी पार्टी- 111
रालोद- 08

सुभासपा- 06

कांग्रेस- 02
जनसत्ता दल लोकतांत्रिक- 02
बसपा- 01