Wednesday , February 8 2023

T20 World Cup 2021 : पहली बार टी20 विश्व कप के फाइनल में पहुंचा न्यूजीलैंड, इन 5 कारणों से जीती बाजी हार गया इंग्लैंड, पढ़ें- पूरी डिटेल

T20 World Cup 2021- न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच दुबई में खेला गया टी20 विश्वकप का पहला सेमीफाइनल क्रिकेट फैंस के लिए पैसा वसूल मुकाबला रहा। रोमांचक मुकाबले न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों ने इंग्लैंड के जबड़े से जीत छीन ली। 166 रनों का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम ने 13 रनों पर ही मार्टिन गुप्टिल और कप्तान केन विलियम्सन जैसे दिक्गज बल्लेबाजों के विकेट गवां दिये थे। तब किसी ने नहीं सोचा था कि न्यूजीलैंड यह मैच जीत पाएगा, लेकिन डैरेल मिचेल (72 रन, 47 गेंद, 4×6 6×6) और डिवॉन कॉन्वे (46 रन, 38 गेंद, 5×4 1×6) की शानदार अर्धशतकीय साझेदारी (82) की बदौलत न्यूजीलैंड फाइट में बना रहा। अंत में जेम्स नीशाम की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी ने इंग्लैड को टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। टी 20 विश्वकप का दूसरा सेमीफाइनल आज पाकिस्तान औऱ ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला जाएगा। आइए जानते हैं इंग्लैंड की हार के प्रमुख पांच कारण-

  1. अंतिम ओवरों में रन नहीं बन सका इंग्लैंड
    बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैड की टीम 166 रन ही बना सकी जबकि एक समय लग रहा था कि इंग्लिश बल्लेबाज 180 से अधिक रन बना सकेंगे। आखिरी तीन ओवरों में न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने सेट इंग्लिश बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया।
  2. जेम्स नीशाम की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी
    छठे नंबर पर जब जेम्स नीशाम बल्लेबाजी करने आए थे, न्यूजीलैंड का Raquired Run Rate चढ़ता जा रहा था। ऐसा लग रहा था कि मैच तेजी से इंग्लैंड की गिरफ्त में जा रहा है। न्यूजीलैंड को आखिरी चार ओवरों में 57 रन चाहिए थे। 17 ओवर में नीशाम के दो छक्कों की बदौलत क्रिस जॉर्डन 23 रन लुटा गये। 18वें ओवर लेकर आये आदिल राशिद ने भले ही नीशाम को आउट कर दिया, लेकिन तब तक वह दो छक्के खा चुके थे
  3. मुश्किल समय में 82 रनों की साझेदारी
    मात्र 13 रनों के भीतर दो विकेट गंवाने वाली न्यूजीलैंड की टीम काफी दबाव में थी। रन भी नहीं आ रहे थे। ऐसे में कॉनवे और डैरेल मिचेल 82 रनों की सूझबूझ भरी पारी खेली और 13.4 ओवरों तक न तो विकेट गिरने दिया, बल्कि रन रेट भी बनाये रखा।
  4. दीवार बन गये डैरेल मिचेल
    भारत के खिलाफ शानदार बल्लेबाजी करने वाले न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज डैरेल मिचेल इंग्लैंड की जीत के बीच दीवार बनकर खड़े गये। अंत तक इंग्लिश गेंदबाज उन्हें आउट नहीं कर सके। नतीजन, उन्होंने 72 रनों की तेज-तर्रार पारी खेलकर इंग्लैंड को विश्वकप से बाहर कर दिया। शानदार बल्लेबाजी के लिए डैरेल मिचेल को मैन ऑफ दि मैच के पुरस्कार से नवाजा गया।
  5. दबाव में बिखरी इंग्लिश टीम
    विश्व कप के पहले सेमीफाइनल में इंग्लैंड के गेंदबाज खासकर अंतिम ओवरों में खुद को नियंत्रित नहीं रख सके। गेंदबाजों ने 10 अतिरिक्त रन लुटाये, जिनमें से 4 वाइड और 1 नो बॉल थी। हालांकि, न्यूजीलैंड की टीम ने 9 वाइड बॉल फेंकी गईं। आखिर में फील्डिंग में कुछ कैच छूटे। कई बार गेंद हवा में गई, लेकिन वहां फील्डर नहीं थे। इसके अलावा मोइन अली से गेंदबाजी न कराना भी इयॉन मार्गन का फैसला आश्चर्यचकित करने वाला रहा, जबकि स्पिन गेंदबाजों ने ही न्यूजीलैंड के तीन खिलाड़ियों को पवेलियन की रहा दिखाई थी।

इंग्लैंड ने बनाये 166 रन
टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम ने चार विकेट के नुकसान पर 166 रन बनाये। सबस अधिक 51 रन (37) मोइन अली ने बनाये। डेविड मलान ने 41 और जॉस बटलर ने 29 रन बनाये। न्यूजीलैंड की ओर से टीम साउदी, एडम मिलने, ईश सोढ़ी और जेम्स नीशाम को एक-एक विकेट मिला।

19 ओवर में जीता न्यूजीलैंड
टी 20 विश्वकप के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को पांच विकेट से हरा दिया। डैरेल मिचेल ने 72, कॉनवे ने 46 और नीशाम ने 27 रनों की पारी खेली। इनके अलावा कोई बल्लबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू सका। इंग्लैंड की ओर से क्रिस वोक्स औऱ लियम लिविंगस्टो ने 2-2 विकेट मिले जबकि आदिल राशिद ने एक किवी बल्लेबाज का आउट किया।

इंग्लैंड से चुकता किया हिसाब
न्यूजीलैंड की टीम 2019 के वनडे विश्व कप के फाइनल मैच में पहुंची थी, लेकिन इंग्लैंड ने हार गया था। अब टी20 विश्वकप में इंग्लैंड को हराकर न्यूजीलैंड ने पिछली हार का बदला ले लिया है।