Monday , January 30 2023

शिवपाल यादव ने आखिरकार सपा से गठबंधन पर सुना ही दिया अपना आखिरी फैसला

लखनऊ. अपने भतीजे अखिलेश यादव की बेरुखी से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव अब थक गये हैं। आगामी यूपी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी से गठबंधन पर शिवपाल यादव ने कहा कि उनके (अखिलेश यादव) जवाब का इंतजार बहुत हुआ, अब मैं लड़ाई के लिए तैयार हूं। उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि 12 अक्टूबर से भगवान श्रीकृष्ण की कर्मभूमि वृंदावन से समाजिक परिवर्तन यात्रा निकालूंगा। गौरतलब है कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी 12 अक्टूबर हो ‘समाजवादी विजय यात्रा’ निकाल रहे हैं।

एक सवाल के जवाब में शिवपाल ने कहा कि अखिलेश, उनके फोन कॉल्स या मैसेज का जवाब नहीं दे रहे हैं। उन्हें (अखिलेश) आज ही मैसेज किया था कि भाजपा को हराने के लिए बात करना और सभी को एकजुट होना जरूरी है। लेकिन, उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। शिवपाल ने कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि अगर सभी एकजुट हो गए तो अखिलेश मुख्यमंत्री बनेंगे।

कौरवों-पांडवों का दिया उदाहरण
पांडवों का उदाहरण देते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा, नेताजी नहीं चाहते थे कि मैं सपा छोड़ दूं, लेकिन मुझे अलग होना पड़ा। मैंने सिर्फ सम्मान मांगा था, लेकिन कुछ लोग इसके लिए तैयार नहीं हैं। प्रसपा प्रमुख ने कहा, मैंने बहुत कुछ हासिल किया है। मंत्री भी रहा हूं और अब मैं राष्ट्रीय अध्यक्ष भी बन गया हूं। मैंने यहां तक कह दिया था कि अगर इच्छा रही तो हम चुनाव भी नहीं लड़ेगे। सूत्रों के मुताबिक, शिवपाल अब छोटे-छोटे दलों से गठबंधन का विकल्प करेंगे।