Thursday , June 1 2023

NIA और UP ATS ने बाराबंकी से पकड़ा PFI का कोषाध्यक्ष, केरल से आने के बाद से था जांच एजेंसियों की रडार पर

बाराबंकी. Popular Front of India PFI: प्रदेश भर में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के तमाम ठिकानों पर एनआईए और यूपी एटीएस की संयुक्त टीम ने छापेमारी की है। जिसमें अब तक सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है। इसी क्रम में यूपी के बाराबंकी जिले में भी पीएफआई के ठिकाने पर छापेमारी की गई है। जिसमें पीएएफआई के कोषाध्यक्ष को एनआईए और यूपी एटीएस की टीम ने दबोचा है।

पकड़ा गया PFI का कोषाध्यक्ष नदीम
एनआईए और यूपी एटीएस की संयुक्त टीम ने यह कार्रवाई बाराबंकी में कुर्सी थाना क्षेत्र के बोरहार गांव में की है। जहां से नदीम नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है। नदीम पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के कोषाध्यक्ष के रूप में काम कर रहा था और वह केरल से वापस आने के बाद से ही लगातार जांच एजेंसियों की नजर में था। नदीम से आज सुबह करीब तीन बजे से ही टीम पूछताछ कर रही थी। जिसके बाद उसे गिरफ्तार करके लखनऊ ले जाया गया है। जानकारी के मुताबिक नदीम के खिलाफ पहले से भी कई मुकदमें दर्ज हैं और वह कई बार जेल भी जा चुका है।

बाराबंकी के कई इलाकों में PFI का गढ़
आपको बता दें कि बाराबंकी जिले के रामपुर कटरा, मोहम्मदपुर खाला और कुर्सी क्षेत्र को प्रतिबंधित संगठन पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) का गढ़ माना जाता है। कुछ साल पहले मोहम्मदपुर खाला क्षेत्र में दीवारों पर पीएफआई के पोस्टर भी चस्पा पाए गए थे। जिसके बाद से यह तमाम इलाके जांच एजेंसियों की रडार पर रहते हैं। अभी कुछ दिनों पहले भी कुर्सी थाना क्षेत्र के अनवारी गांव से एक मदरसा संचालक के यहां छापेमारी कर एटीएस ने मोहम्मद आमिर उर्फ हामिद नाम के युवक को गिरफ्तार किया गया था।

कुछ दिनों पहले हुई थी गिरफ्तारी
मोहम्मद आमिर लखीमपुर जिले में मोहम्मदी का निवासी था और वह यहां अपनी बहन के घर पर रह रहा था। मोहम्मद आमिर शिक्षण संस्थानों के संचालन के साथ पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी पीएफआई संगठन में सक्रिय सदस्य के रूप में कार्य कर रहा था। मोहम्मद आमिर लखनऊ में एक कोचिंग से भी जुड़ा था।