Tuesday , February 7 2023

हिस्ट्रीशीटर की प्रताड़ना से तंग आकर पत्नी और बेटी ने उठाया खौफनाक कदम, साथियों के साथ मिलकर उतारा मौत के घाट

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से कलयुगी बेटी और पत्नी का खौफनाक चेहरा सामने आया है। जनपद लखनऊ के बख्शी का तालाब थाना क्षेत्र के रूदही गांव के रहने वाले जगतपाल लोधी का शव दो दिन पहले बाराबंकी जिले के जैदपुर कोतवाली क्षेत्र में पाटमऊ गांव की नहर के पास उसी की सफारी गाड़ी से लहूलुहान हालत में मिला था। शव को देखकर यही अंदाजा लगाया जा रहा था कि व्यक्ति की निर्ममता से हत्या की गई है। जगतपाल लोधी की पत्नी पिंकी देवी ने जैदपुर कोतवाली में तहरीर देते हुए अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था। इस मामले में बाराबंकी की जैदपुर पुलिस ने महज दो दिन में ही कलयुगी बेटी और पत्नी के चेहरे से नकाब उठा दिया। पुलिस ने हत्या का खुलासा करते हुए मृतक की पत्नी सहित हत्या करने वाले 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मृतक की बेटी के नाबालिग होने के चलते उसे बाल संरक्षण में भेजा है।

पुलिस ने वारदात का किया खुलासा
दरअसल बाराबंकी जिले के जैदपुर कोतवाली क्षेत्र से दो दिन पहले लखनऊ जनपद के बख्शी का तालाब थाना क्षेत्र के रूदही गांव के रहने वाले, हिस्ट्रीशीटर जगतपाल लोधी का शव उसी की टाटा सफारी गाड़ी से लहूलुहान हालत में प्लास्टिक से लिपटा हुआ मिला था। जैदपुर पुलिस को जगतपाल लोधी की हत्या की जानकारी उस समय हुई जब इसी थाना क्षेत्र के पाटमऊ गांव के नहर के पास एक टाटा सफारी गाड़ी को ग्रामीणों ने एक दलदल में फंसा हुआ देखा। ग्रामीण जब मदद के लिए गाड़ी के पास पहुंचे तो गाड़ी चालक ग्रामीणों को देखकर गाड़ी छोड़कर वहां से फरार हो गया। ग्रामीणों ने गाड़ी में लहूलुहान हालत में एक शव को देखा, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी।

लखनऊ के हिस्ट्रीशटर के रूप में हुई थी पहचान
वहीं मौके पर पहुंची पुलिस ने गाड़ी और व्यक्ति की तलाशी ली जिसके बाद मिले डॉक्यूमेंट के आधार पर व्यक्ति की पहचान हुई। जिसके बाद बाराबंकी पुलिस ने लखनऊ के बख्शी का तालाब पुलिस को घटना की सूचना दी। बख्शी का तालाब पुलिस ने वहां रह रहे परिजनों को व्यक्ति की हत्या की जानकारी दी, इसके बाद परिजन मौके पर पहुंचे। मृतक की पत्नी ने जैदपुर पुलिस को अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की तहरीर दी थी। पुलिस ने महज दो दिन में ही कलयुगी बेटी और पत्नी के चेहरे से नकाब उठा दिया। पुलिस ने हत्या का खुलासा करते हुए मृतक की नाबालिग बेटी के दो पुरुष दोस्तों शिवम और कुणाल सहित पत्नी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मृतक की पत्नी सहित तीन लोगों को जेल भेजा है। वहीं नाबालिग लड़की को बाल संरक्षण में भेजा गया है।

प्रताड़ना से परेशान थीं पत्नी और बेटी
वहीं इस पूरी वारदात का खुलासा करते हुए बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक पूर्णेंदु सिंह ने बताया कि 19 अप्रैल को एक एसयूवी गाड़ी लावारिस हालत में मिली थी। जिसमें एक शख्स का शव भी मिला था। बाद में उस शख्स की शिनाख्त राजधानी लखनऊ के बख्शी तालाब थाने के हिस्ट्रीशीटर जगतपाल के रूप में हुई। मृतक जगतपाल की तहरीर पर थाना जैदपुर में मुकदमा लिखा गया था। बाद में पुलिस द्वारा मुकदमे की विवेचना में सामने आया कि मृतक की बेटी और पत्नी ने ही अपने साथियों के साथ मिलकर इस हत्याकांड को अंजाम दिया था। हत्या के बाद शव और सबूत को मिटाने के लिये ये लोग जैदपुर तक गाड़ी ले आये थे, लेकिन यहां पाटमऊ में नहर पटरी पर गाड़ी के फंस जाने के चलते ये लोग उसे वहीं छोड़कर फरार हो गये। पुलिस को जांच में पता चला कि मृतक थाने का हिस्ट्रीशटर और आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति था, वह लगातार अपनी पत्नी और बेटी का उत्पीड़न और उनके साथ हिंसा भी किया करता था। जिससे परेशान होकर पत्नी और बेटी ने अपने साथियों शिवम और कुणाल के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम देने का प्लान बनाया। जगतपाल की हत्या से पहले उसे नींद की दवा खिलाया और फिर अपने साथियों के साथ मिलकर घर पर ही पेचकस, ईंटों और बाकी तमाम घरेलू चीजों गोदकर मौत के घाट उतार दिया। फिर शव को ठिकाने लगाने के लिये गाड़ी से जैदपुर पहुंचे। हालांकि यहां गाड़r फंस जाने के चलते वह मृतक को छोड़कर फरार हो गये।