Monday , January 30 2023

पति हुआ पैर से विकलांग, बाइक पर सवार होकर पत्नी 40 किमी. दूर बेचने जाती है दूध

दिल्ली. कौन कहता है महिलाएं मर्दों से कम है। मौका मिले तो वह क्या नहीं कर सकती। ऐसी ही एक मिसाल पेश की है सोनीपत की रहने वाली 45 वर्षीय जानू ने। इनके पति के पैर में फ्रैक्चर होने के बाद वह अब घर की जिम्मेदारी उठा रही हैं। प्रतिदिन वह बाइक पर दूध के कंटेनर रख अपने घर से 40 किलोमीटर शहर जाती हैं और उसे बेचकर अपने परिवार का भरण पोषण करतीं हैं।

मूल रूप से तो वह हिमाचल प्रदेश की रहने वाली हैं, लेकिन वर्तमान में हरियाणा के सनौली में यमुना किनारे वह परिवार संग रहती हैं। उनके पति के पैर में एक रोज गंभीर चोट लग गई थी, जिससे वह फ्रेक्चर हो गया। इस कारण व चल फिर नहीं पा रहे। घर में आर्थिक तंगी के कारण जानू ने बीड़ा उठाया और दूध बेचने का व्यवसाय शुरु कर दिया। जानू रोजाना प्रातः पांच बजे उठती और पशुओं का दूध निकालती। करीब 90 लीटर के दो कंटेनर बाइक पर टांगती और शहर की ओर निकल पड़ती।इसी से परिवार का गुजर बसर चल रहा है।

कई हो जाते हैं हैरान-

जानू को यह काम करते देख कई लोगों ने हैरान जताई। इनमें से किसी ने कहा कि दूध बेचना और बाइक चलाना को मर्दों का काम है। इस पर वह कहती हैं कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। जिम्मेदारी आती है, तो वह बाइक क्या जहाज भी उड़ा सकती है।