Tuesday , February 7 2023

BJP को दिया वोट तो गांव वालों ने हुक्का-पानी किया बंद, नमाज पढ़ने से रोका, शादी में शामिल होने वालों पर लगाया 20 हजार का जुर्माना, जानें कहां का है मामला

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में एक मुस्लिम परिवार ने आरोप लगाया कि उन लोगों ने यूपी चुनाव में बीजेपी के पक्ष में वोट किया जिसके चलते गांव वालों ने उन सभी का हुक्का-पानी बंद कर दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि उनको मस्जिद में नमाज पढ़ने से भी रोका जा रहा है। वहीं पुलिस का कहना है कि परिवार की बदनीयती देखकर गांव वालों ने वर्ष 2006 से इस परिवार का बहिष्कार किया था। गांव वालों को शादी में शामिल करने के लिए इस तरह का मामला बनाया गया है।

बीजेपी को वोट दिया, इसलिये हुक्का-पानी बंद
ताजा मामला बाराबंकी जिले के फतेहपुर कोतवाली क्षेत्र के रेरिया गांव से सामने आया है। यहां एक मुस्लिम परिवार को बीजेपी को वोट देना इतना भारी पड़ गया कि ग्राम प्रधान सहित गांव के सभी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इस परिवार का हुक्का-पानी बंद कर दिया है। हद तो तब हो गई जब इस परिवार को गांव की मस्जिद में नमाज पढ़ने और उनकी दुकान से गांव वालों को सामान लेने से रोक दिया गया। ऐसे में गांव वालों के इस जुल्मों सितम से यह परिवार काफी परेशान हैं। परिवार में इसी महीने 31 तारीख को लड़के की शादी है। इनका लड़का सऊदी से घर आया है। लेकिन अब ग्राम प्रधान सहित गांव के लोग लड़के की शादी में शामिल न होने और शादी में गांव में टेंट न लगाने का फरमान सुना चुके हैं। पीड़ित परिवार का आरोप है कि गांव के प्रधान समेत कुछ लोग उनकी एक जमीन को मदरसा के लिये देने का दबाव बना रहे हैं।

शादी में शामिल होने वालों पर 20 हजार का जुर्माना
पीड़ित परिवार का आरोप है कि गांव के प्रधान समेत बाकी ने कहा है कि अगर गांव में किसी ने भी उनके परिवार के लोगों से बात की, शादी में खाना खाया या कोई भी मतलब रखा तो उनको 20 हजार रुपये का जुर्माना देना होगा। साथ ही शादी में टेंट लगाने वालों, खाना बनाने वालों समेत बाकी लोगों को भी मना कर दिया है। इसके अलावा उनको मस्जिद में नमाज पढ़ने से भी रोका जा रहा है। पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि उन लोगों ने कई साल पहले एक जमीन भी खरीदी थी, गांव के प्रधान समेत बाकी लोग उनपर दबाव बना रहे हैं कि हम वह जमीन मदरसा के लिये खाली कर दें। ऐसे में हम लोग काफी परेशान हैं।

क्या कहना है पुलिस का? 
इस मामले में बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक पूर्णेन्दु सिंह का कहना है कि फतेहपुर थाना क्षेत्र के रेरिया गांव का एक मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें एक परिवार का आरोप है कि एक विशेष पार्टी को वोट देने के चलते गांव वालों द्वारा उनका बहिष्कार किया गया है। जब इस मामले की जांच की गई तो पता चला कि गांव के एक मदरसे की जमीन पर कब्जे को लेकर इस परिवार के लोगों ने विपक्षियों पर बम से हमला किया था। जिसमें आवेदक जेल भी गया था। वहीं, परिवार की बदनीयती देखकर गांव वालों ने वर्ष 2006 से इस परिवार का बहिष्कार किया था। जांच में पता चल रहा है कि अब परिवार में एक शादी थी, इसलिए गांव वालों को उसमें शामिल करने के लिए ऐसा मामला बनाया गया। फिलहाल आवेदक द्वारा थाने पर कोई तहरीर नहीं दी गई है. तहरीर मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।