Monday , January 30 2023

लखनऊ का लुलु मॉल बनेगा दूसरे मॉल और दुकनदारों के लिए सिर दर्द? इस तरह की भीड़ ने दिए संकेत

लखनऊ. Lulu Mall Lucknow. बीते रविवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में देश के सबसे बड़े मॉल यानी लुलु मॉल (Lulu Mall) का उद्घाटन हुआ। करीब दो लाख स्क्वेयर फिट में बना लुलु मॉल दुबई बेस्ट एक भारतीय का मॉल है। और इसका हाइपर मार्केट सबसे ज्यादा आकर्षण का केंद्र रहा है। लखनऊ में यह भले ही पहला हाइपर मार्केट है, लेकिन जिन-जिन जगहों पर यह पहले से हैं, वहां शॉपिंग के लिए लोगों की यह पहली पसंद बना हुआ है। इसकी एक बानगी भर है केरल के त्रिवेंद्रम का एक वीडियो, जिसमें आधी रात के बाद लुलु हाइपर मार्केट में लोगों को हुजूम उमड़ पड़ा। खचाखच लोगों की इस भीड़ की वजह रही मिडनाइट सेल, जिसमें लगभग सभी चीजें आधे दाम पर मिल रही थी। लुलु की इस तरकीब से दूसरे प्रतिद्वंदियों की नींद उड़ा दी थी।

कैसे किया लुलु ने ऐसा-

दरअसल लुलु ऐसे ही इतनी बड़ी सेल नहीं लगाता। इसके पीछे तगड़ी नेटवर्किंग और मार्केटिंग है। लुलु का मॉल तो है ही, साथ ही हाइपर मार्केट करे के कई स्टोर्स भी हैं और यह दुनियाभर में हैं। वह तमाम प्रोडक्ट्स दुनिया के अलग-अलग जगहों से भारी मात्रा में ऑर्डर कर लेता है। बल्क में ऑर्डर खरीदता है, तो उसे सस्ता पड़ता है। और सस्ती दरों पर ही वह उसे ग्राहकों को बेच पाता है। इसी कारण लुलु जहां जाता है, वहां यह राज भी कर पाता है और दूसरे प्रतिद्वंदियों के लिए परेशानी खड़ी करता है।

लखनऊ में अभी क्या-

लुलु इसी तरीके से लोगों को आकर्षित कर अपना बना लेता है। लखनऊ के लुलु में ओपनिंग के पहले सप्ताह में ग्राहकों के लिए 50 प्रतिशत डिस्काउंट पर प्रोडक्ट्स को बेच रहा है। हालांकि त्रिवेंद्रम जैसी मिडनाइड सेल अभी आनी बाकी है। इसके जरिए वह कुछ नया करने की सोच रहा है।

मिडनाइट सेल का क्या फायदा-

त्रिवेंद्रम के लुलु मॉल में 6 जुलाई की रात 11.59 बजे से 7 जुलाई की सुबह तक के लिए लगी थी। राज्य सरकार ने मिडनाइट शॉपिंग मॉडल का एक दिवसीय ट्रायल करने का फैसला किया था। इसमें सभी सामान आधे दाम पर मिल रहे थे। लुलु ग्रुप के क्षेत्रीय निदेशक, जॉय शदानंदन ने कहा, “हमारा मुख्य लक्ष्य आधी रात की खरीदारी को प्रोत्साहित करना है ताकि जनता कम ट्रैफिक के साथ नाइटलाइफ़ का आनंद ले सके और अधिक शांतिपूर्ण वातावरण में अपनी दैनिक आवश्यकताओं की खरीद कर सके। एक और उद्देश्य जो प्रशासन इस मॉडल को लागू करने के साथ हासिल करना चाहता है, वह उस धारणा को तोड़ना है, जिसके अनुसार महिलाओं के लिए रात में यात्रा करना असुरक्षित है। इस मॉडल से महिलाओं में आत्मविश्वास जगेगा।