Monday , January 30 2023

Inflation: महंगाई से निपटने में कारगर हैं ये तरीके, एक बार अपनाकर तो देखिए

लखनऊ. Reduce Inflation effect- देश भर में महंगाई चरम पर है। खुदरा के साथ-साथ थोक महंगाई भी सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है। अप्रैल में थोक महंगाई 31 साल के रिकॉर्ड स्तर 15.08 फीसदी पर और खुदरा महंगाई 7.79 फीसदी पर पहुंच गई है। नतीजन, खाने-पीने के सामान, ईंधन और बिजली के दामों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी हो रही है। आय के स्रोत बंद हो रहे हैं जबकि जेब खर्च बढ़ता ही जा रहा है। परिवार चलाने के लिए आम आदमी कोल्हू के बैल की तरह जुटा हुआ है। निश्चित ही आप भी महंगाई से खासे परेशान होंगे और उससे निपटने के तरीके खोज रहे होंगे। आपके मन भी सवाल उमड़ रहे होंगे कि आखिर इस महंगाई को कैसे रोका जा सकता है? ऐसे में अगर आप इस महंगाई के दानव से निपटना चाहते हैं तो बेहतर होगा कि अपने गैर जरूरी खर्चों पर लगाम लगायें।

आर्थिक जानकारों की सलाह है कि महंगाई का असर कम करने के लिए आप महीने भर के खर्च का लेखा-जोखा तैयार कर लें। इसके लिए चाहें तो डायरी तैयार कर लें या फिर फिर ऑनलाइन स्पेडशीट बना लीजिए। जिसमें हरेक स्रोत से होने वाली अपनी आय और हर मद में होने वाले खर्च को नोट कर लीजिए। इसके बाद आपको पता चल जाएगा कि आपकी मंथली इनकम और खर्च क्या हैं? ध्यान रहे कि आप जो भी मंथली बजट बनायें, उससे गैर जरूरी खर्चों को दूर रखें ताकि आय का कुछ हिस्सा सेविंग किया जा सके। इससे दो फायदे होंगे एक तो गैर जरूरी खर्चे नहीं होंगे दूसरे आपकी सेविंग भी होती रहे।

कम करें कर्ज का बोझ
महंगाई का असर आपकी ब्याज दरों पर भी पड़ता है। ऐसे में अगर आप पर कोई लोन है तो आपका बजट और गड़बड़ा सकता है। ऐसी सूरत में आपको ब्याज में जाने वाली रकम घटाने की कोशिश करनी चाहिए। इसके लिए आप अपने पास मौजूद नकद का इस्तेमाल कर सकते हैं या कहीं से अचानक मिली रकम भी इसमें इस्तेमाल हो सकती है। उस रकम से मूलधन का एक हिस्सा अदा कर दीजिए ताकि ब्याज कम हो जाए। इससे आपकी मासिक किस्त घट जाएगी।

आय बढ़ाने की करें कोशिश
महंगाई के लिए गैर जरूरी खर्चों पर अंकुश जरूरी है, लेकिन यह एक सीमा तक ही लगाया जा सकता है। ऐसे में महंगाई से निपटने के लिए आपके पास दूसरा विकल्प है आय में इजाफा। इसलिए जितना जल्दी हो सके, अपनी आय बढ़ाने के रास्ते तलाशिए। इसके लिए अगर आपको अपने कौशल में सुधार करना पड़े तो देर मत कीजिए। अगर आपको लगता है कि आपका काम बहुत अच्छा है और दफ्तर के कामकाज बिना आपके संभव नहीं हैं तो आप अपने कंपनी या नियोक्ता से वेतन बढ़ाने की मांग भी कर सकते हैं।

इनवेस्टमेंट जारी रखें
इन दिनों बाजार जबरदस्त उतार-चढ़ाव के दौर से गुजर रहा है। ऐसे में अगर आप इक्विटी फंड में पैसा जमा कर रहे हैं तो उसे हर हाल में जारी रखें। ऐसा न हो कि आप मार्केट के अप-डाउन से परेशान होकर इक्विटी में पैसा जमा करना बंद कर दें या फिर पैसा निकाल लें। ऐसा करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स का मानना है कि म्युचुअल फंड में लंबी अवधि तक का निवेश फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़ें: महंगाई डायन खाये जात है, आखिर कब मिलेगी इससे राहत?