Tuesday , February 7 2023

प्यार में धोखा! पहले प्रेमी के साथ मिलकर प्रेमिका ने की दूसरे की हत्या, जरा सी गलती से खुल गया पूरा राज

कन्नौज. कन्नौज जिले के इंदरगढ़ थाना क्षेत्र के कठेला गांव निवासी 20 वर्षीय जितेंद्र राजपूत पेश से ड्राइवर था। करीब एक साल पहले उसे गांव की ही एक लड़की रूपा (बदला हुआ नाम) से प्यार हो गया था। अक्सर दोनों छिप-छिपकर मिलते थे। लेकिन कहते हैं कि न कि इश्क और मुश्क छिपाये नहीं छिपते। ऐसा ही यहां भी हुआ। दोनों के बीच नजदीकियों की भनक गोरेलाल को भी लग गई थी, जिसका बीते तीन वर्षों से रूपा के संग प्रेम-प्रसंग चल रहा था। इस बात को लेकर गोरेलाल और रूपा में कई बार कहासुनी भी हुई। इसके बाद दोनों ने मिलकर जितेंद्र को ही रास्ते से हटाने का फैसला कर लिया। इस काम को अंजाम देने के लिए दोनों ने एक खतरनाक साजिश बनाई और प्रेमिका ने पहले प्रेमी के साथ मिलकर दूसरे प्रेमी को बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या कर दी।

अपराधी कितना भी शातिर क्यों न हो, अपने पीछे कोई न कोई सुराग जरूर छोड़ जाता है। इस केस में भी ऐसा ही हुआ। पुलिस ने मृतक के मोबाइल फोन की लोकेशन की मदद से रूपा और गोरेलाल को गिरफ्तार लिया। इन दोनों ने जितेंद्र की हत्या के बाद उसका मोबाइल अपने पास ही रख लिया था। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। रूपा ने पुलिस को बताया कि गोरेलाल और उसका तीन वर्ष प्रेम-प्रसंग चल रहा था। इस बीच जितेंद्र से भी उसकी नजदीकियां हो गई थीं। लेकिन गोरेलाल को जितेंद्र से नफरत थी। इसलिए उन्होंने ये साजिश रची।

रात में फोन कर खेत में बुलाया और फिर कर दिया कत्ल
पुलिस के मुताबिक, रोजाना की तरह आलाकत्ल की रात भी जितेंद्र राजपूत खाना खाया और सोने के लिए गांव में ही दूसरे मकान में चला गया। यहां वह अकेले ही रहता था। वह सोने की तैयारी कर ही रहा था कि रूपा ने उसे फोन किया और गांव के बाहर एक खेत पर मिलने के लिए बुलाया। घर का दरवाजा बंद करके वह खेत पर पहुंचा, वहां रूपा उसी का इंतजार कर रही थी। वह रूपा को देखते ही मुस्कराया और भींचकर उसे सीने से चिपका लिया। तभी पीछे से गोरेलाल ने उसके सिर पर डंडे से वार कर दिया। अचानक हुए हमले से उसके मुंह से चीख निकल गई। आवाज दूर तक न जाये इसलिए रूपा ने उसका मुंह दबा लिया। इसके बाद दोनों डंडे से उसे तब तक मारते रहे जब तक वह मर नहीं गया। इसके बाद दोनों मृतक का मोबाइल लेकर मौके से फरार हो गए। अगले दिन ग्रामीणों ने शव देखा तो पुलिस को सूचना दी।

दोनों को भेजा जेल
कन्नौज के पुलिस अधीक्षक प्रशांत कुमार ने पूरे हत्याकांड का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि आरोपितों की निशानदेही पर जितेंद्र का मोबाइल व आला कत्ल डंडा बरामद कर लिया है। पूछताछ पूरी होने के बाद दोनों आरोपितों को जेल भेज दिया है। उन्होंने बताया कि मृतक के मोबाइल की लोकेशन के आधार पर हत्यारोपियों को पकड़ा गया।