Monday , January 30 2023

अब हफ्ते में एक दिन ‘जज’ बनेगा यूपी का यह SP, ‘सच का सामना’ कराकर फैसला करेगा ऑन द स्पॉट


बाराबंकी. IPS Anurag Vatsa: अक्सर देखने और सुनने में आता है कि पीड़ित न्याय के लिए ठोकरें खाता रहता है। कई बार विवेचक द्वारा जानबूझकर फंसाने के इरादे से किसी के खिलाफ गलत विवेचना भी कर दी जाती है। यहां तक कि कुछ शिकायतकर्ता अपने प्रतिद्वंदियों को फंसाने के लिए झूठे मुकदमे तक लिखवा देते हैं। वहीं बहुत से निर्दोष लोग झूठे शिकायतकर्ताओं और फर्जी विवेचना करने वाले पुलिस कर्मियों की वजह से कोर्ट और थाने के चक्कर काटते रहते हैं। ऐसे में जब तक उन्हें न्याय मिलता है बहुत देर हो चुकी होती है, लेकिन अब किसी भी पीड़ित के साथ ऐसा नहीं होगा। न तो कोई झूठी शिकायत दर्ज कर किसी को फर्जी मुकदमों में फंसा पाएगा और न ही पुलिसकर्मी विवेचना को मनमर्जी से सही या गलत कर पाएंगे। ऐसा करने वालों को अब बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स के सामने सच का सामना करना होगा। इस दौरान शिकायत झूठी पाई गई तो शिकायतकर्ता पर और विवेचना झूठी पाई गई तो संबंधित पुलिस अधिकारी पर सख्त कार्रवाई होगी।

SP Anurag Vatsa का प्रयोग
पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने बाराबंकी में यह नया प्रयोग शुरू किया है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में इस कार्यक्रम के लिए हर सप्ताह का गुरुवार का दिन तय किया गया है। यानी माह में चार दिन यानि हर गुरुवार को को सच का सामना में एसपी जज की भूमिका निभाएंगे। जिसमें वादी और प्रतिवादी को एक दूसरे से आमना-सामना कराया जाएगा। दोनों अपनी अपनी बात पुलिस अधीक्षक के सामने रखेंगे। ऐसे में अगर उनके बीच कोई गलतफहमी या संवादहीनता के चलते विवाद चल रहा होता है तो उसका त्वरित निस्तारण भी इसी कार्यक्रम में कर दिया जाएगा। पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने आज कई ऐसे गंभीर मामलों में वादी और प्रतिवादी का आमना-सामना कराया। जिसमें प्राथमिकी दर्ज थी। इस कार्यक्रम में संबंधित थानों के विवेचक भी शामिल हुए।


फैसला होगा ऑन द स्पॉट
वहीं बाराबंकी पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स का कहना है यह एक विशेष अभियान है। जिसमें गंभीर, लंबित प्रकरणों को सूचीबद्ध कर पुलिस कार्यालय में प्रत्येक गुरूवार को वादी-प्रतिवादी, जांचकर्ता, विवेचक को बुलाकर समीक्षा की जाती है। आज इस कार्यक्रम में दोनों पक्षों को सुनकर, विवेचक और जांचकर्ता द्वारा की गयी कार्रवाई की समीक्षा की गयी। सभी तथ्यों का अवलोकन कर प्रकरणों का निस्तारण कराया गया। एसपी अनुराग वत्स ने बताया कि लोगों को त्वरित न्याय दिलाने और प्रताड़ना को कम करने के उद्देश्य से यह पहल जिले भर में शुरू की गई है। इसके तहत विशेष मामलों के शिकायतकर्ता से लेकर आरोपित विवेचक आदि को सच का सामना करना होगा।