Tuesday , February 7 2023

International Yoga Day 2022 – जानें इस योग डे पर क्या कुछ है खास और क्यों पूरी दुनिया योगा को भारत से जोड़ती है

लखनऊ. International Yoga Day 2022 – योग भारत की प्राचीन परम्पराओं की देन है| यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है| योग को पुनर्जीवित प्रधानमंत्री मोदी(pm modi) ने 2014 में किया था, जिसके बाद से यह पूरे विश्व में मनाया जाने लगा| इस दिन को संयुक्त राष्ट्र(united nation) द्वारा भी मान्यता प्राप्त है| आज योग दिवस भारत के 75 प्रतिष्ठित और विरासतीय स्थलों के साथ न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय(headquater) के उत्तरी लॉन, नेपाल(nepal), नई यॉर्क स्थित नियाग्रा फाल्स(niagara falls)के अलावा तमाम अन्य देशों में योग दिवस की तैयारियां देखी जा सकती है| आइये जानते हैं अंतराष्ट्रीय योग दिवस और इससे जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में-

योग क्या है? (what is yoga)
योग एक प्राचीन शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक अभ्यास है जिसकी उत्पत्ति भारत में हुई थी। योग में ध्यान, आसन और प्राणायाम के माध्यम से हम मन, श्वाश, और शरीर के विभिन्न अंगों में सामंजस्य बनाना सीखते हैं| योग केवल व्यायाम के बारे में नहीं है बल्कि यह अपने आप में, दुनिया और प्रकृति के साथ एकता की भावना को खोजने का एक तरीका है|

अंतराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को क्यों मनाया जाता है? (why yoga day is celebrated on 21 june)
कुछ विद्वानों का मानना है कि 21 जून को दिन लम्बा होता है और इस दिन को ग्रीष्म संक्रांति के नाम से जाना जाता है| ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणयान का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने में बहुत लाभकारी माना जाता है| तथा इसी दिन आदिगुरु शिव (adiguru shiva) ने अपने शिष्यों को उपदेश दिया था|

योग का इतिहास? (history of yoga)
योग का सबसे पहली बार उल्लेख ऋग्वेद (rigveda) में किया गया और भारतीय प्राचीन ग्रंथ जैसे भागवत गीता (bhagvat geeta), उपनिषद (upanishad), योग वशिष्ठ, हठ योग प्रदीपिका, गेरांडा संहिता, शिव संहिता (shiv sanhita), पुराण (puran) आदि में भी इसका जिक्र मिलता है।

योग का जनक किसे माना जाता है? (Who is considered the father of yoga)
योग का जनक ‘पतंजलि’ (patanjali) को माना जाता है जिन्होंने जिन्होंने ‘योगसूत्र’ (yogsutra)नामक ग्रन्थ भी लिखा है| इन्होने योग सूत्रों के माध्यम से इसे और अधिक सरल बनाया और योग के जरिए लोगोंं को ठीक प्रकार से जीवन जीने की प्रेरणा दी थी।

योग करने के लाभ? (Benefits of yoga)
योग करने से तनाव मुक्त जीवन, मानसिक शक्ति का विकास, सहनशीलता में वृद्धि, नशा मुक्त जीवन, और शारीरिक क्षमता का विकास होता है|

योग के प्रकार? (Types of Yoga)
योग 6 प्रकार के होते हैं- हठ, राज, कर्म , भक्ति, ज्ञान और तंत्र योग

भारत के प्रसिद्ध योगगुरु (India’s famous yog guru)
बीकेएस अय्यंगर (B.K.S Aiyyangar) – अयंगर को विश्व के अग्रणी योग गुरुओं में से माना जाता है| इन्होने ‘लाइट ऑन दा योग सूत्र ऑफ़ पतंजलि (light on the yoga sutra of patanjali), लाइट ऑन प्राणायाम’ (light on pranayam) नामक किताबें भी लिखी हैं|

स्वामी रामदेव (Swami Ramdev) – बाबा रामदेव भारतीय योग गुरु हैं| इन्होंने योगासन व प्राणायाम (pranayam) योग के क्षेत्र में योगदान दिया है।

आज है 8वां अंतराष्ट्रीय योग दिवस (8th International Yoga Day)
इस बार योगा डे की थीम (theme of yoga day 2022) ‘ योग फॉर ह्यूमैनिटी’ (yoga for humanity) है| इस दिन को विशेष बनाने के लिए दुनिया भर से करीब 25 करोड़ से ज्यादा लोग भाग लेंगे| भारत में भी इसको भव्य बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी आज कर्नाटक (karnataka) के मैसूर पैलेस ग्राउंड (mysore palace ground) में आयोजित योगाभ्यास में शामिल हुए और करीब 15000 से ज्यादा लोगो का नेतृत्व किया| इसके अलावा भारत के विभिन राज्यों के मुख्यमंत्रियों (indian chief ministers) ने योग करके नागरिको को स्वस्थ जीवन शैली अपनाने और रोजाना योग करने का सन्देश दिया है| जैसे मुख्यमंत्री योगी (cm yogi) ने लखनऊ (lucknow) के राजभवन, जेपी नड्डा (J P Nadda) ने नोएडा स्टेडियम (noida stadium) , राष्ट्रपति भवन (rashtrapati bhavan) में रामनाथ कोविंद (ramnath kovind) हिमाचल के सीएम (himachal chief minister) जयराम ठाकुर (jayram thakur) ने शिमला स्टेडियम व मोहम्मद नकवी (mohammad abbas nakvi) ने फ़तेहपुर सिकरी (fatehpur sikri)स्थित स्टेडियम में योग किया|

भारत के लिए क्यों है खास इस बार का योग दिवस? (special about yoga day 2022)
भारत के लिए इस बार का योग दिवस और भी खास हो जाता है क्युकी भारत इस वर्ष अपनी आज़ादी की 75वें वर्ष का पर्व मना रहा है ( Azadi ka Amrit Mahotsav) |