Monday , January 30 2023

Agnipath Schemes: अग्निवीरों को महिंद्रा गुप में काम करने का शानदार ऑफर, इन क्षेत्रों में भी हैं कई मौके

लखनऊ.Anand Mahindra offers jobs to Agniveers- केंद्र की नई सैन्य भर्ती योजना ‘अग्निपथ’ के खिलाफ व्यापक विरोध के बीच, महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप(mahindra and mahindra group) के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने ट्वीट(anand mahindra tweets) के जरिए अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे युवाओं को रोजगार का देने का वादा किया है| पर उनकी एक शर्त है कि जो प्रशक्षित अग्निवीर ट्रेनिंग के दौरान अनुशासन और बेहतर कौशल(skills) सीखेंगे, वह उन्हीं कुशल अग्नीवीरों को मौका देंगे|

महिंद्रा ‘अग्निवीरों’ को किन पदों पर नियुक्त करेगा?
उद्योगपति आनंद महिंद्रा (industrialist anand mahindra) ने कॉर्पोरेट क्षेत्र में कुशल अग्नीवरों को रोजगार के लिए संभावनाएं जताई हैं। लीडरशिप, टीम वर्क और शारीरिक प्रशिक्षण(physical training) के साथ ‘आनंद’ अग्निवीरों को उद्योग बाजार के लिए बेहतर और ब्रॉड स्पेक्ट्रम पर तैयार युवा मानते हैं|

कौन है अग्निवीर (who is known as agniveer)?
चार साल की नौकरी में छः महीने की ट्रेनिंग के बाद 17.5 साल से 21 साल तक की उम्र वाले इस योजना से जुड़े लोग अग्निवीर कहलायेंगे|

अग्निवीरों के लिए क्या है खास इस योजना में (benefits of agneepath scheme)?
इस योजना के तहत सेना की रेजिमेंट में भर्ती (recruitment of agniveers)किसी जाति, धर्म या क्षेत्र के हिसाब से नहीं बल्कि भारत के देशवासी के नाते होगी| और पहले ही साल में थल सेना के लिए 40000, वायुसेना के लिए 3500 और नौसेना के लिए 3000 अग्निवीरों की भर्ती होगी|

  1. रक्षा मंत्रालय की नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण(reservation to agniveers)
  2. केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) और असम राइफल्स (Assam Rifles) में भी 10 फीसदी का कोटा
  3. CAPF और Assam Rifles में अधिकतम प्रवेश आयु सीमा में 3 साल की छूट
  4. केंद्र व राज्य सरकार रोजगार में प्राथमिकता देगी
  5. यूपी, उत्तराखंड और एमपी की पुलिस भर्तियों में अग्निवीरों को प्राथमिकता
  6. हरियाणा सरकार 75% अग्निवीरों को सरकारी नौकरी में और 25% को स्थायी नौकरी देगी
  7. अग्रिवीरों को साल में मिलेंगी 30 छुट्टियां
  8. वर्दी से पहचाने जाएंगे अग्निवीर
  9. महिलाओं को भी इस योजना में मौका मिलेगा
  10. पहले चरण में 46000 अग्निवीरों की होगी भर्ती

अग्निपथ योजना का विरोध क्यों (why protest against agneepath yojna)?
अग्निवीरों का मानना है की चार साल बाद, 75 प्रतिशत लोगों को लगभग ₹12 लाख की राशि के साथ छोड़ दिया जाएगा और कोई पेंशन का लाभ नहीं दिया जायेगा। जबकि चुने जाने वाले 25 प्रतिशत लोगों का कार्यकाल 15 साल का होने के साथ सभी सुविधा उपलब्ध होंगी।

केंद्र सरकार का रुख(stand of Indian Government on Agnipath yojna)?
केंद्र सरकार ने कई तरह के आश्वासन देते हुए कहा है की वह अग्निवीरों को अर्धसैनिक बलों और सरकारी पदों पर वरीयता देगा| पर इतने हिंसक और व्यापक विरोध के बावजूद, केंद्र ने योजना को वापस लेने की किसी भी योजना से इनकार किया है|