Monday , January 30 2023

Gold Rate Today- अपने उच्चतम स्तर से केवल दो हजार रुपए सस्ता है सोना, जानें आज के भाव

लखनऊ. Gold Rate Today. सोने के भाव तेजी से 55 हजार रुपए की ओर बढ़ रहा है, हालांकि चेन्नई व मदुराई जैसे कुछ क्षेत्रों में ये 55000 का आंकड़ा पार कर चुका है। दिल्ली में ताजा भाव की बात करें तो 24 कैरेट सोना 53,890 रुपए प्रति दस ग्राम में बेचा जा रहा है। वहीं लखनऊ में सोने के भाव 54,050 रुपए पहुंच गया है, जो दस दिन पूर्व यानी 27 फरवरी कों 51710 रुपए था। मतलब 10 दिनों में 2340 रुपए की बढ़त। सोने के भाव साल 2020 अगस्त के अपने 56000 रुपए के रिकॉड से बस चंद कदमों (करीब 2000 रुपए) की दूरी पर है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह रिकॉर्ड तो टूटेगा ही, साथ ही इस बार अनुमान है कि आंकड़ा 60000 प्रति दस ग्राम तक भी पहुंच सकता है।

क्यों बढ़ते हैं सोने के भाव-

आम से लेकर खास और पूरी दुनिया की सरकारों तक को सोने की चमक आकर्षित करती है। सबसे बुरे हालातों में उनका सबसे बड़ा सहारा बनती है। जब ग्लोबल इकोनॉमी के मंदी की ओर बढ़ने का डर सताता है, तो इसे देखते हुए कई देश गोल्ड को सबसे सुरक्षित निवेश मानते हुए इसमें इन्वेस्टमेंट में लग जाते हैं। कई देशों के सेंट्रल बैंक भी सोना खरीदते हैं और अपने गोल्ड रिजर्व को मजबूत करते हैं। 2020 में कोरोना महामारी के दौरान कुछ ऐसा ही हुआ था। उस वक्त प्रॉपर्टी के भी दाम भी खूब गिरे, बैंकों से भी अच्छे रिटर्न नहीं मिल रहे थे। तब गोल्ड में रिकॉर्ड खरीदारी होने लगी थी। ऊपर से लॉकडाउन में गोल्ड माइंस और रिफाइनरी बंद हो गई थी। यह सभी बातें इंटरनेशनल मार्केट में सोने के रेट में तेजी लाने लगी थी।

एक साल में 15000 रुपए तक बढ़े थे भाव-
जनवरी 2020 में सोने के अधिकतम दाम 41,150 रुपए प्रति 10 ग्राम थे। कोरोना और लॉकडाउन के कारण उसी साल अगस्त में रिकार्ड 56000 रुपए में सोना बिका। मतलब करीब 15 हजार की बढ़ोत्तरी।

ताजा वजह रशिया-यूक्रेन युद्ध-

इसी तरह जब देशों के बीच जंग जैसे हालात बनते हैं। तब भी पूरी दुनिया का बाजार हिल जाता है। खाने पीने की चीजों से लेकर ऑयल, एनेर्जी और उन सभी चीजों का प्रोडक्शन और सप्लाई रुकने की संभावना बन जाती है, जिनसे देश और उनकी जनता एक दूसरे पर निर्भर होती हैं। शेयर मार्केट भी धड़ाम हो जाता है। लोगों की जमापूंजी प्रभावित होने लगती है। ऐसी स्थिति में भी आम लोग और निवेशक सोने को ही सबसे सुरक्षित निवेश मानते हैं। इससे फिर सोने की मांग बढ़ती है और फिर सीधे इसकी कीमत में इजाफा होने लगता है। जैसे अभी हो रहा है। मौजूदा वक्त में रशिया-यूक्रेन की जंग इस बढ़ोत्तरी की बड़ी वजह है। साथ ही महंगाई, अनिश्चितताऔर अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ी कीमत भी सोने के भाव को बूस्ट कर रहे हैं।एक महीने पहले तक ही सोना दिल्ली में 24 कैरेट सोने का भाव 49550 रुपए प्रति दस ग्राम था। और अब यह 53,890 में बिक रहा है।

60,000 तक जा सकते हैं भाव-

बाजार एक्सपर्ट की मानें, तो 2-3 महीनों में सोना 56 हजार का आंकड़ा छू सकता है। IIFL सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता ने कहा कि रूस-यूक्रेन युद्ध से सोने में अभी तेजी आई है। इसके अलावा महंगाई पर कंट्रोल नहीं हो पा रहा है। इस वजह से इंटरनेशनल मार्केट में सोना अगले 2-3 महीने में 2100 डॉलर प्रति आउंस के स्तर तक पहुंच सकता है। इससे भारत में सोना 56 हजार तक जा सकता है।

वहीं केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया कहते हैं कि महंगाई और यूक्रेन-रूस के बीच बढ़ते विवाद के कारण ग्लोबल टेंशन बढ़ी है। इससे सोने को सपोर्ट मिलेगा और ये इस साल 55 हजार रुपए प्रति 10 ग्राम तक जा सकता है। HDFC Securities का मानना है कि सोने की कीमतें जल्द ही 60,000 के लेवल पर पहुंच सकती हैं. 

Nirmal Bang  में  Commodities Research के Head Kunal Shah का कहना है कि इस साल सोने 54,000 से 55,000 रुपए तक जा सकता है। वहीं अगले साल ये 60,000 से 62,000 की बीच भी पहुंच सकता है।