Monday , January 30 2023

महिलाओं पर फूल फेंक रहे थे BJP के विधायक जी, वीडियो हो गया Viral और FIR हो गई

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर इन दिनों लगभग सभी दलों के नेता अपने-अपने प्रचार में लगे हुए हैं। इस दौरान नेता कोविड प्रोटोकॉल्स को भी ताख पर रखकर जमकर लापारवाही बरत रहे हैं। इस दौरान बाराबंकी जिले में भी विधानसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता उल्लंघन का पहला मामला सामने आ गया। दरअसल बीजेपी के एक विधायक जी क्षेत्र में अपना प्रचार करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं। लेकिन इस बार बीजेपी विधायक को अपने प्रचार के दौरान कोविड प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ाना महंगा पड़ गया। दरअसल वह अपने प्रचार के दौरान कलश यात्रा में निकल रही महिलाओं पर फूल बरसाने लगे, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और अब उनके ऊपर चुनाव आचार सहिंता (Code Of Conduct) और कोरोना प्रोटोकॉल (Covid Protocols) के उलंघन का मुकदमा दर्ज हो गया है।

विधायक महिलाओं पर बरसा रहे थे फूल
दरअसल पूरा मामला कुर्सी विधानसभा के बीजेपी विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा से जुड़ा हुआ है। बीजेपी विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा का महिलाओं पर फूल बरसाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। वीडियो में बीजेपी विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा ने एक चौराहे पर कलश लेकर जा रही महिलाओं पर पुष्प वर्षा करते दिखाई पड़ रहे हैं।


कोविड प्रोटोकॉल की उड़ीं धज्जियां
जानकारी के मुताबिक बाराबंकी के मोहम्मदपुर खाला थाना क्षेत्र के उमरी गांव में एक शख्स के यहां भागवत कथा का आयोजन था। इसमें सैकड़ों की भीड़ के साथ स्थानीय ग्रामीणों और महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली थी। इस दौरान कुर्सी विधानसभा के बीजेपी विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा भी वहां पहुचे और अपने समर्थकों के साथ कलश यात्रा में शामिल महिलाओं पर जमकर फूल बरसाने लगे। इस दौरान विधायक के समर्थकों द्वारा जिंदाबाद के नारे भी लगाए गए। वही इस मामले को संज्ञान में लेकर पुलिस मे चुनाव आचार सहिंता और कोरोना प्रोटोकॉल के उलंघन का मुकदमा बीजेपी विधायक पर दर्ज किया है।

वीडियो वायरल, FIR दर्ज
पुलिस के मुताबिक एक वीडियो सोशल मीडिया पर वॉयरल हुआ था। वीडियो में कुर्सी विधानसभा से बीजेपी विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा (BJP MLA Sakendra Pratap Verma) एक कलश यात्रा में शामिल महिलाओं और दूसरे लोगों पर पुष्प वर्षा करते देखे जा रहे हैं। वीडियो वॉयरल होने के बाद उड़न दस्ता टीम ने पड़ताल की तो पता चला कि वीडियो मोहम्मदपुर खाला इलाके के उमरी गांव का है। जांच में सामने आया कि गांव के पंकज मिश्रा नाम के शख्स ने बिना परमीशन भागवत कथा का आयोजन करवाया था। भागवत कथा के पहले दिन कलश यात्रा निकाली गई थी। जहां चुनाव आचार संहिता और कोविड-19 प्रोटोकॉल की खूब धज्जियां उड़ीं। इसी मामले को बाराबंकी के एसपी अनुराग वत्स ने संज्ञान में लेकर केस दर्ज कराने के आदेश दिए। जिसके बाद विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा और भागवत कथा के आयोजक पंकज मिश्रा के खिलाफ मोहम्मदपुर खाला थाने में आचार संहिता उलंघन और कोरोना प्रोटोकॉल के उलंघन का मुकदमा दर्ज किया गया है।