Tuesday , February 7 2023

ध्यान दें! सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का नहीं बदला है चुनाव चिन्ह, भाजपा के इशारे पर अफवाह फैलाने का आरोप

लखनऊ. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का चुनाव चिन्ह छड़ी ही रहेगा। सुभासपा के राष्ट्रीय मुख्य प्रवक्ता अरुण राजभर ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग ने सुभासपा को छड़ी चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया है। उन्होंने कहा कि एक समाचार पत्र में भाजपा के इशारे पर अफ़वाह फैलाई गई कि सुभासपा का सिम्बल छिन लिया गया है जबकि यह ख़बर ग़लत है। सुभासपा को निर्वाचन आयोग द्वारा पत्र सिम्बल आवंटन का प्राप्त हो चुका है। उन्होंने कहा कि यूपी में जब से सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने समाजवादी पार्टी से गठबंधन किया है, दिल्ली से लखनऊ तक भाजपा की नींद उड़ गई है।

अरुण राजभर ने कहा कि जनहित के मुद्दों पर सपा और सुभासपा का गठबंधन हुआ है। उन्होंने कहा कि सुभासपा, जातिवार जनगणना, घरेलू बिजली का बिल माफ करने, गरीबों का निःशुल्क इलाज, स्नातकोत्तर तक एक समान अनिवार्य निशुल्क शिक्षा, सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू करने, जिसकी जितनी संख्या, उसकी उतनी हिस्सेदारी के मुद्दे, महगांई से निजात, संविधान की रक्षा, समाजिक न्याय आदि मुद्दों पर सुभासपा-सपा का गठबंधन हुआ है।

2022 में यूपी की जनता बदलाव को तैयार : अरुण राजभर
सुभासपा नेता अरुण राजभर ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता बदलाव के लिए तैयार है। भाजपा का छल, कपट, झूठ अब ज़्यादा दिन तक नहीं चलने वाला है। इनकी हर साजिश नाकाम होगी। 2022 में सुभासपा मजबूती के साथ सपा के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे चुनाव नज़दीक आएगा, भाजपा के तरफ़ से अफ़वाहें फैलाई जाएंगी, लेकिन उत्तर प्रदेश की जनता इनके छल और साजिश को समझ चुकी है। आगे से कोई भी समाचार पत्र या टीवी चैनल सुभासपा को लेकर फ़र्ज़ी खबर को फैलाएगे तो पार्टी उनके ऊपर कानूनी कार्यवाही के लिए बाध्य होगी। सुभासपा वंचितों, पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यको गरीबो के न्याय के लिये संघर्ष करती है, दुमदारों को भगाने में यही “छड़ी” बहुत काम आएगी। 2022 में खदेड़ा होगा-झूठ और नफरत से निजात मिलेगा।