Wednesday , February 8 2023

डायल 112 में तैनात कांस्टेबिल ने मांगी ईएल, कहा- शादी के 7 माह बाद भी नहीं मिली ‘खुशखबरी’

बलिया. बलिया में तैनात पुलिस कांस्टेबल का छुट्टी के लिए एक अनोखा पत्र सामने आया है। पत्र में उसने लिखा है कि साहब, शादी के बाद ‘खुशखबरी’ के लिए 15 दिन की छुट्टी चाहिए। पत्र के सार्वजनिक होने के बाद सभी अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं।
दरअसल बलिया के डॉयल 112 में तैनात एक कांस्टेबल सुनील कुमार यादव ने छुट्टी के लिए जो आवेदन दिया है वह बेहद रोचक है और अनोखा भी है। काम का दबाव, परिजनों से दूरी और कई दूसरी समस्याओं का उसने जिक्र किया है। पुलिस विभाग में छुट्टी न मिलने से जवान परेशान था। भाग-दौड़ व चिरौरी-विनती के बाद किसी तरह उसे जरूरी कार्यों के लिए दो-चार दिनों का अवकाश मिल पाता है। ऐसे में जवान ने अब अवकाश के लिए ऐसे तर्क दिए है जो चर्चा का विषय बन गए हैं।

सिपाही ने छुट्टी के लिए भरे जाने वाले फॉर्म में लिखा है कि ‘महोदय, प्रार्थी की शादी को सात महीने हो गए, अभी तक कोई खुशखबरी नहीं मिली है। डॉक्टर की सलाह के अनुसार दवा ली है तथा उनके साथ रहना है। प्रार्थी घर पर निवास करेगा। अत: आपसे निवेदन है कि प्रार्थी को 15 दिवस का ईएल देने की कृपा करें।’ सक्षम द्वारा इसे संस्तुति के साथ अग्रसारित भी कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें- यूपी में 7 IPS अफसरों के ट्रांसफर, लखनऊ व कानपुर के पुलिस कमिश्नर हटाए गए

छुट्टियों की स्थिति-

सूत्रों की मानें तो यह तो एक बानगी भर है। विभाग में अन्य कई ऐसे जवान हैं, जो अवकाश के लिये परेशान हैं। प्रदेश के किसी भी जगह पर तनाव होते ही सबसे पहले पुलिसकर्मियों की छुट्टी बंद कर दी जाती है। विभागीय लोगों की मानें तो छोटे-बड़े चुनावों के अलावा होली, दीपावली, दशहरा, ईद, बकरीद, मोहर्रम आदि तीज-त्योहार पर अवकाश देने की प्रक्रिया को बंद कर दी जाती है।

ये भी पढ़ें- परिवहन विभाग के एआरएम ने कांवड़ियों को धोए पैर, कराया भोज, कहा- भोले बाबा कि कृपा से ही सब होगा, देखें वीडियो

क्या है अवकाश का प्रावधान-

पुलिस अथवा अन्य सरकारी महकमों में महिलाओं के लिये मातृत्व तथा पुरुषों के लिये पितृत्व अवकाश का प्रावधान है। हालांकि दोनों के अवकाश लेने के समय में बड़ा अंतर है। महिलाओं को जहां पहले 135 दिन का मातृत्व अवकाश मिलता था, वहीं शासन ने कुछ साल पहले इसे बढ़ाकर 180 दिन कर दिया। इसी प्रकार पुरुषों को 15 दिन का पितृत्व अवकाश मिल सकता है। विभागीय अधिकारी के अनुसार यह अवकाश पूरी नौकरी के दरमियान केवल दो बार ही लिया जा सकता है। यह अवकाश तब भी लिया जा सकता है, जब कर्मचारी की पत्नी को प्रसव होने वाला हो व वह किसी रोग से ग्रसित हो।