Saturday , June 3 2023

DA Hike- केंद्रीय कर्मचारियों को दिवाली से पहले बड़ा तोहफा, महंगाई भत्ते में हुआ 4 फीसदी का इजाफा

दिल्ली. DA hike of Government employees. केंद्रीय कैबिनेट बैठक में सरकार ने बुधवार को केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ता (डीए) को मूल वेतन के 34 प्रतिशत से बढ़ाकर 38 प्रतिशत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। 1 जुलाई, 2022 से 4 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी के साथ यह प्रभावी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) की बैठक में महंगाई की भरपाई के लिए डीए की अतिरिक्त किस्त जारी करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

चूंकि नवीनतम महंगाई घोषणा वृद्धि की प्रभावी तिथि 1 जुलाई है, कर्मचारियों को उनके नवीनतम वेतन के साथ लगभग 47.68 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारियों और 68.62 लाख पेंशनभोगियों के लिए एक उत्सव के रूप में भुगतान किया जाएगा और यह नागरिक कर्मचारियों और उन लोगों के लिए भी लागू है, जो रक्षा सेवाओं में कार्यरत हैं।

इतना आएगा सरकार पर बोझ-

महंगाई भत्ते की इस वृद्धि की वजह से केंद्र सरकार पर 6,591.36 करोड़ रुपए प्रति वर्ष के अतिरिक्त वित्तीय बोझ आने का अनुमान है। वित्तीय वर्ष 2022-23 में जुलाई, 2022 से फरवरी, 2023 तक 4,394.24 करोड़ रुपए का बोझ आने का दबाव है। पेंशनभोगियों को महंगाई राहत में सालाना 6,261.20 करोड़ रुपए का इजाफा होने का अनुमान है; और वित्तीय वर्ष 2022-23 में 4,174.12 करोड़ रुपये।

कैसे हो कैल्कुलेट-

मान लीजिए किसी सरकारी कर्मचारी की बेसिक सैरेली 56,000 रुपये है तो 38 फीसदी की दर से उसे महंगाई भत्ता बढ़ने पर 21,280 रुपये महंगाई भत्ता मिलेगा। मतलब हर माह 2240 रुपये अधिक और पूरे साल के हिसाब से फायदा जोड़े तो 21,280*12= 255360 रुपये मिलेंगे। मतलब सालाना आधार पर पहले के मुकाबले 26,880 रुपए ज्यादा महंगाई भत्ता मिलेगा।

वहीं यदि किसी कर्मचारी की बेसिक सैलेरी 18,000 रुपये है तो 34 फीसदी की दर से उसे महंगाई भत्ते के तौर पर 6,120 रुपये मिल रहे हैं। अब महंगाई भत्ता बढ़कर 38 फीसदी हो जाने पर उसे 6,840 रुपये महंगाई भत्ते के रूप में मिलेंगे। मतलब पूर्व में जहां 6,120*12= 73,440 रुपये महंगाई भत्ता मिल रहा था, अब चार प्रतिशत बढ़ने के बाद उसे 82,080 रुपये मिलेंगे। मतलब 8,640 रुपये का फायदा।