Monday , January 30 2023

डॉक्टर तबादले को लेकर अब सीएम योगी ने मांगा जवाब, दो दिनों में रिपोर्ट पेश करने के दिए आदेश

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बीते दिनों स्वास्थ्य मंत्री व यूपी डिप्टी सीएम बृजेश पाठक के बिना बताए चिकित्सकों के किए गए ट्रांसफर खुद बृजेश पाठक को नाराज थे ही। इसने विपक्ष को मौका भी दिया था और सरकार की खूब किरकिरी भी हुई। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। मामले का संज्ञान लेते हुए उन्होंने खुद मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा से गड़बड़ी पर रिपोर्ट तलब की है।

स्वास्थ्य विभाग में सीएमओ, सीएमएस, डाक्टर्स व पैरा मेडिकल स्टाफ के तबादलों में गड़बड़ी की वजह से मचे बवाल को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा के साथ अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी व संजय भूसरेड्डी को रिपोर्ट तैयार करने को कहा है। दो दिनों में रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा गया है।

बीते दिनों स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक ने अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद से मामले पर सवाल किया था। जिसके जवाब में उन्होंने कहा था कि सब कुछ नियमानुसार हुआ है। वहीं तबादलों को लेकर डाक्टर व कर्मचारी आंदोलन के लिए रणनीति बना चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रांतीय चिकित्सा सेवा (पीएमएस) संवर्ग के डाक्टरों के तबादले में हुई गड़बड़ियां ठीक नहीं हो रही। इसके लिए पीएमएस एसोसिएशन ने जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है।

मामले पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक व महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य को पत्र लिखा गया है व चेतावनी दी गई है कि यदि निदेशक प्रशासन पर कार्यवाही नहीं हुई तो आंदोलन होगा। 14 जुलाई को पैरामेडिकल कर्मचारियों ने प्रदर्शन करने की घोषणा की है। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के बैनर तले कर्मचारी गलत ढंग से हुए तबादले रद करने की मांग करेंगे। इस कारण इन दिनों अस्पतालों में डाक्टरों और कर्मियों की कमी भी देखने को मिल रही है। ज्यादातर कर्मी गलत ढंग से हुआ तबादला रुकवाने के लिए दौड़ लगा रहे हैं।