Tuesday , February 7 2023

धर्म के नाम पर राजनीति करती है भाजपा, जनता के मुद्दों पर मौन रहे अखिलेश यादव : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

लखनऊ. बख्शी का तालाब में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा। जनसभा को संबोधित करते हुए बघेल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी नौजवानों के रोजगार के लिए, महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा के लिए और जनहित के जुड़े मुद्दों पर हमेशा काम करती है। इस बार वोट अपने हित, रोजगार और विकास के मुद्दे पर वोट दीजिए। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश बदलाव का मन बना चुका है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लगातार उत्तर प्रदेश की महिला शक्ति के सम्मान और राजनैतिक भागीदारी और नौजवानों, किसानों की आवाज उठा रही हैं। प्रदेश की 6.50 करोड़ नारी शक्ति को प्रियंका गांधी के रूप में अपनी नेता मिल चुकी है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं पहले जब उत्तर प्रदेश में आता था तो खुशहाली थी, रोजगार हुआ करते थे, लेकिन पिछले कुछ साल की सपा और भाजपा सरकारों ने प्रदेश को बर्बाद कर पीछे धकेल दिया। इस दौरान उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि प्रियंका गांधी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने जा रही है।

धर्म के नाम पर राजनीति करती है भाजपा
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा, भारतीय जनता पार्टी के नेता कभी आप के मुद्दे पर बात नहीं करते, वह धर्म के नाम पर राजनीति करते है। भाजपा ने सत्ता में आने से पहले बड़े-बड़े वादे किए थे, नौजवानों को नौकरियां देने की बात कही थी। किसानों से कहा था आपकी आय दोगुनी करेंगे लेकिन यहां पर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद भी नहीं हो पाती। हमने छत्तीसगढ़ में MSP के ऊपर 2500 रुपये क्विंटल खरीदी करके दिखाई। हमारे यहां जंगल क्षेत्र ज्यादा है वहां भी MSP पर खरीद हुई। उत्तर प्रदेश में खरीदी कौन कराए? यहां की भाजपा सरकार को धर्म और जाति की राजनीति से फुर्सत नहीं है। लेकिन प्रियंका गांधी प्रतिज्ञा ली है कि कांग्रेस की सरकार बनने पर छत्तीसगढ़ की तरह यहां भी 2500 कुंतल गेहूं और धान सरकार खरीदेगी।

निशाने पर अखिलेश यादव
समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए भूपेश बघेल ने कहा कि अखिलेश यादव विकास के मुद्दे पर वोट नहीं मांगते। उत्तर प्रदेश में जब नौजवानों को छला जा रहा था, किसानों पर गाड़ियां चलाई जा रही थी, उस समय अखिलेश नहीं बोले। महिलाओं के साथ अत्याचार होता रहा लेकिन फिर भी अखिलेश जी की आवाज नहीं निकली।