Wednesday , February 8 2023

भारतीय कृषक दल ने सरकार की नीतियों पर उठाये सवाल, कहा- झूठे वादों की वजह से दूसरे शहरों का रुख कर रहे लोग

लखनऊ. भारतीय कृषक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सरोज दीक्षित ने दारुलशफा बी ब्लॉक के कॉमन हाल लखनऊ में पार्टी संगठन के विस्तार पर चर्चा की एवं प्रदेश में बढ़ रही महंगाई भ्रष्टाचार पर चिंता जताते हुए उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा। सरोज दीक्षित ने कहा कि पार्टी के मिशन “चलो गांव की ओर” के तहत हमने गांवों में जाकर हकीकत जानी। साथ ही गांव से जुड़े ब्लॉक व तहसीलों में जाकर सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति को मुंह चिढ़ाते हुए भी देखा कि आम आदमी बिना दलालों के मिले अधिकारियों, कर्मचारियों से अपने कार्य नहीं कर सकता।

सरोज दीक्षित ने कहा कि योगी सरकार को स्मरण करना चाहिए कि गांवों ने विगत वर्ष ही कोरोना जैसी घातक बीमारी में अपनी कीमत दिखाई। जब सब कुछ बंद था तब भी किसान, मजदूर सब्जी फल आदि पैदा कर राष्ट्र को प्रभावशाली बनाने में अपनी भूमिका अदा कर रहे थे। हजारों किलोमीटर दूर शहरों से पैदल चलकर मजदूरों, महिलाओं, बच्चों ने गांव में ही आकर शरण ली थी। इस दौरान उन्होंने सरकारों के वादों पर सपना भी देख लिया कि अब वह गांव में ही रहकर खुशहाल जिंदगी जिएंगे और उत्तर प्रदेश में रहकर उत्तम प्रदेश बनाने का काम करें। क्योंकि सरकार ने वादा किया था कि वह गांव में कुटीर उद्योग, लघु उद्योगों आदि में लोगों को काम से जुड़ेंगे। लेकिन ऐसा न हो सका, पापी पेट, खाली जेब और सरकार के झूठे वादों ने पुनःउत्तर प्रदेश से दूर शहरों की ओर जाने को विवश कर दिया।

कृषि विभाग में अनियमितताओं का बोलबाला- सरोज दीक्षित
सरोज दीक्षित ने मुख्यमंत्री कहा कि प्रदेश में कृषि विभाग में अनियमितताओं का बोलबाला है। विगत सरकारों ने किसान मित्रों को हटाकर सहयोगी कृषक, अग्रणी कृषकों एवं आउटसोर्सिंग पर कर्मचारियों को लगाकर करोड़ों रुपए का गोलमाल हो रहा है। वहीं, किसान के बेटे प्रशिक्षित किसान मित्र दर-दर की ठोकरे खा रहे हैं। प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रमोद यादव राष्ट्रीय सचिव बी एन पांडेय, मोहम्मद अकरम, मृदुल बाजपेई हरिवंश मणि त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे।