Monday , January 30 2023

Ballia- आकाश नर्सिंग होम में ऑपरेशन के दौरान बच्चे की मौत, अंत में थमाया बिल और कहा- दूसरे अस्पताल ले जाओ

बलिया. डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है, लेकिन जब वहीं मरीजों के इलाज में लापरवाही करने लगे तो कोई क्या करे। यूपी के बलिया में डॉक्टरी ने अपने पेशे को धन उगाही का जरिया मान लिया है। यहां आकाश नर्सिंग होम में इलाज कराने आई एक गर्भवती महिला के बच्चे की मौत हो गई। लेकिन इन लोगों की रुपए की भूख फिर भी शांत नहीं हुई।

बलिया के हनुमानगंज में एक गर्भवती महिला नेहा को उसके परिजनों ने 8 जुलाई को प्रसव के लिए जीराबस्ती में आकाश नर्सिंग होम मे भर्ती कराया था। इलाज के लिए परिजनों ने चिकित्सक ने जो रकम मांगी थी वो भी तुरंत जमा करा दी। रकम मिलने के बाद नेहा का ऑपरेशन किया गया। लेकिन बच्चे की मौत हो गयी है। वहीं नेहा की तबियत लगातार बिगड़ती रही और आकाश नर्सिंग होम के चिकित्सकों ने उसको अशर्फी अस्पताल में इलाज के लिए भेज दिया गया। लेकिन उससे पहले इन लोगों ने परिजनों को 1 लाख 2 हजार का बिल थाम दिया। काफी जोर अजमाइश के बाद 54 हजार रुपये में बात तय हुई। तब जाकर नेहा को वहां से छोड़ा गया और अशर्फी अस्पताल तीखमपुर में भर्ती कराया गया।

यहाँ भी परिजनों से 8 हजार रुपये लेकर इलाज करने के बाद सुधार न होने पर नेहा को जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया। जहां बेहोशी की हालत मे भर्ती नेहा का इलाज जारी है। भाई का आरोप है कि अस्पताल को रुपए देने के बावजूद आपरेशन में लापरवाही की गई और बच्चे की मौत हो गई। उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराकर न्याय मांगा है।