Monday , January 30 2023

UP Elections 2022: समाजवादी पार्टी के गढ़ में इस बार बड़ी जीत दर्ज करने जा रही है बीजेपी? BJP नेता से एक्सक्लूसिव बातचीत

आजमगढ़. UP Elections 2022- आजमगढ़ का पूर्वांचल का सबसे बड़ा जिला कहा जाता है। यहां 10 विधानसभा और 02 लोकसभा सीटें हैं। लेकिन बीते वर्षों में यहां से भाजपा अपनी उम्मीदों को परवान नहीं चढ़ा सकी। 2019 में आजमगढ़ से अखिलेश यादव और 2014 में उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने मोदी लहर के बावजूद इस सीट पर साइकिल दौड़ाई थी। 2017 के विधानसभा चुनाव में 5 सीटें समाजवादी पार्टी ने और चार सीटें बहुजन समाज पार्टी ने जीती थीं। भाजपा को सिर्फ एक एक सीट ही मिली थी। इस बार भाजपा जोड़तोड़ में लगी है। जनपद के लालगंज से बीजेपी सूरज श्रीवास्तव ने दावा करते हुए कि भारतीय जनता पार्टी इस बार आजमगढ़ की 10 में 02 सीटें जीतने जा रही है।

2017 के विधानसभा चुनाव के एक वर्ष बाद भारतीय जनता पार्टी ने आजमगढ़ की दो लोकसभा सीटों (आजमगढ़ और लालगंज) के लिए अलग-अलग जिलाध्यक्ष व पदाधिकारी नियुक्त किये हैं। लालगंज के बीजेपी महामंत्री सूरज श्रीवास्तव ने The NH Zero की टीम से बातचीत में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को 10 में 07 सीटें जीतने का दावा किया। इस दौरान उन्होंने कई मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखी।

करीब 45 लाख है आजमगढ़ की आबादी
पूर्वांचल का आजमगढ़ जिला हॉट जिलों में शुमार है। यह तमसा नदी के तट पर स्थित है। आजमगढ़ मंडल में आजमगढ़, मऊ और बलिया जिले शामिल हैं। मऊ, गोरखपुर, गाजीपुर, जौनपुर, सुलतानपुर और अंबेडकरनगर सहित छह जिलों की सीमाएं आजमगढ़ जिले से सटी हुई हैं। आजमगढ़ जिले में आठ तहसीले है 2 नगरपालिका व 11 नगर पंचायत भी हैं। आजमगढ़ जनपद को नवाब आज़मशाह ने बसाया था, इसी कारण इसका नाम आज़मगढ़ पड़ा। आजमगढ़ की जनसंख्या करीब 45 लाख है। (2001 की जनगणना के अनुसार)
आजमगढ़ में दो लोकसभा सीटें (आजमगढ़ और लालगंज) हैं। अखिलेश यादव आजमगढ़ से सांसद हैं जबकि लालगंज से बसपा के अरिमर्दन सिंह सांसद है। जिले में 10 विधानसभा क्षेत्र हैं। गोपालपुर, सगड़ी, मुबारकपुर, आजमगढ़, मेहनगर, अतरौलिया, निजामाबाद, फूलपुर-पवई, दीदारगंज और लालगंज।