Monday , January 30 2023

Assembly Elections 2022 Schedule : अब रैलियां ऑनलाइन होंगी और नेता भी, चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में लिए जारी की गाइडलाइन

लखनऊ. Assembly Elections 2022 Schedule- कोरोना ने इस बार पूरा सिस्टम ही बदल दिया है। पढ़ाई, लिखाई, दवाई, हॉस्टल, हॉस्पिटल, फंक्शन और ट्रांजेक्शन सब कुछ ऑनलाइन है। अब रैलियां भी ऑनलाइन होंगी और नेता भी। घोषणाएं भी ऑनलाइन होंगी और मॉनिटरिंग भी। निर्वाचन आयोग ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों की घोषणा करते हुए 15 जनवरी तक रैलियों, नुक्कड़ सभाओं पर रोक लगा दी गई है। डोर टू डोर कैंम्पेन भी सीमित कर दिया गया है। इस दौरान कोई पदयात्रा और रोड शो भी नहीं होगा। राजनीतिक दल वर्चुअली और डिजिटल तरीके से ही चुनाव प्रचार कर सकेंगे। 15 जनवरी के बाद चुनाव आयोग रिव्यू करेगा और फिर आगे के चुनाव प्रचार के लिए रैलियों की घोषणा करेगा। जीत के बाद विजय जुलूस पर भी पूरी तरह से रोक रहेगी। चुनाव आयोग के ऐलान के बाद सभी दल डिजिटल मोड में आ गये हैं। अब फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप और इंस्टाग्राम जैसे माध्यम चुनावी मैसेज से भरे नजर आएं तो हैरत मत करिएगा।

आइए अब जान लेते हैं कि राज्य में कब होंगे विधानसभा चुनाव…
केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों का एलान कर दिया है। यूपी में 07, मणिपुर में 02, पंजाब, गोवा और उत्तराखंड में 01-01 चरण में मतदान होगा। यूपी में 10 फरवरी को पहले चरण का और 07 मार्च को सातवें चरण केा मतदान होगा। उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में 14 फरवरी को मतदान होंगे। मणिपुर में 27 फरवरी और 03 मार्च को मतदान होगा। सभी राज्यों के नतीजे 10 मार्च को आएंगे। पांच राज्यों के कुल 18.34 करोड़ मतदाता कुल 690 विधानसभा सीटों के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। चुनाव की तारीखों एलान होते ही पांचों राज्यों में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है।

प्रत्याशियों के चुनाव प्रचार में खर्च की सीमा बढ़ी
इस बीच चुनाव आयोग ने उम्मीदवारों के लिए चुनावी खर्च की सीमा बढ़ा दी है। अब उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड में खर्च की सीमा 40 लाख रुपए, गोवा और मणिपुर में 28 लाख रुपए तय की गई है। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी अब अपने चुनाव प्रचार में 40 लाख रुपए तक खर्च कर सकेंगे। पहले यह खर्च सीमा 28 लाख रुपए थी। चुनाव आयोग की सिफारिश के बाद उम्मीदवारों का चुनावी खर्च बढ़ाने का फैसला किया गया है। चुनाव आयोग ने उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन नामांकन की सुविधा उपलब्ध कराई है। सुविधा एप के जरिये वह अपना नामांकन कर सकते हैं।

आइए अब एक नजर डालते हैं चुनाव आयोग के खास दिशा-निर्देशों की..

  • 15 जनवरी तक राजनीतिक रैलियों, नुक्कड़ सभाओं पर रोक
  • रात 8 बजे से सुबह 8 बजे तक कोई रैली नहीं होगी
  • पोलिंग स्टेशन बढ़ाए गए हैं, हर बूथ पर सिर्फ 1250 वोटर्स ही होंगे
  • सभी पोलिंग बूथ सैनेटाइज होंगे और वहां व्हील चेयर की व्यवस्था होगी
  • वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके कर्मचारी ही मतदान में लगेंगे
  • आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन करने पर होगी कार्रवाई
  • यूपी में 40 लाख तक खर्च कर सकते हैं कैंडिडेट
  • गैर कानूनी पैसे और शराब पर नजर रखेगा आयोग
  • कोरोना पाजिटिव मरीज भी दें सकेंगे वोट
  • 80 प्लस उम्र के बुजुर्गों को पोस्टल बैलेट की सुविधा
  • कोरोना को देखते हुए मतदान का समय एक घंटा बढ़ाया गया
  • मतदान के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे
  • जीत के जश्न पर रोक, दो से ज्यादा व्यक्ति विनिंग सर्टिफिकेट लेने नहीं जायेंगे
  • सुविधा एप के जरिए ऑनलाइन नामांकन करा सकेंगे कैंडिडेट
  • कैंडिडेट्स को आपराधिक मामलों की जानकारी सभी माध्यमों से वोटर्स के साथ साझा करनी होगी

यह भी पढ़ें : यूपी में 7, मणिपुर में 2, पंजाब-उत्तराखंड और गोवा में 1-1 चरण में होगा मतदान, 10 मार्च को आएंगे नतीजे, 15 तक रैलियों पर पाबंदी