Wednesday , February 8 2023

ओवैसी को लेकर अमित शाह का बड़ा खुलासा, कहा- उनकी सुरक्षा को अभी भी खतरा, हमलावरों ने किया चौंकाने वाला खुलासा

दिल्ली. UP Election 2022: लोकसभा सांसद और आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) (AIMIM) के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की कार पर हुए हमले को लेकर देश के गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने संसद में बयान दिया। अमित शाह ने राज्यसभा में कहा कि ओवैसी के खतरे का मूल्यांकन कराया गया है और उन्हें जेड श्रेणी की सुरक्षा भी दी गई थी। लेकिन ओवैसी ने सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया है। अमित शाह ने कहा कि मैं उनसे निवेदन करुंगा कि वो तुरंत ही सुरक्षा ले लें। सरकार की रिपोर्ट के मुतबिक असदुद्दीन ओवैसी को अभी भी सुरक्षा संबंधी खतरा है। वहीं असदुद्दीन ओवैसी की कार पर हमला करने वाले हमलावरों ने हापुड़ पुलिस की पूछताछ के दौरान खुलासा किया है कि ओवैसी कार में नीचे की ओर झुके थे, इसलिए कार पर नीचे की ओर गोली चलाई थी।

ओवैसी पर हमले को लेकर बोले अमित शाह
अमित शाह ने संसद में कहा कि स्थानीय पुलिस ने घटना के तुरंत बाद कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों से यूपी पुलिस पूछताछ कर रही है। वहीं इस मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने तुरंत ही यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगी है। उनके खतरे का मूल्यांकन कराया गया और जेड श्रेणी की सुरक्षा (Z Category Security) दी गई थी। अमित शाह ने घटना का ब्योरा देते हुए संसद में कहा कि जब ओवैसी का काफिला सिजारसी टोल प्लाजा (Sijarsi Toll Plaza) पर पहुंचा तो दो अज्ञात लोगों ने उनके काफिले पर गोली चलाई। हमलावरों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत एफआई आर दर्ज की गई है।

ओवैसी का नहीं था कोई कार्यक्रम
गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि ओवैसी का हापुड़ जिले में कोई पूर्व निर्धारित कार्यक्रम नहीं था, उनके कार्यक्रम की कोई सूचना जिला नियंत्रण कक्ष को पहले नहीं भेजी गई थी। हालांकि घटना के बाद वे सुरक्षित दिल्ली पहुंचे। आपको बता दें कि AIMIM प्रमुख Asaduddin Owaisi की कार पर हापुड़ जिले में 3 फरवरी की शाम को गोलीबारी की गई थी। यह घटना उस वक्त हुई, जब वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में चुनाव से जुड़े कार्यक्रमों में शरीक होने के बाद लौट रहे थे।

सुरक्षा लेने से ओवैसी ने किया इनकार
वहीं हमले के बाद केंद्र सरकार ने Owaisi को केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कमांडो द्वारा ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने का फैसला किया था। ओवैसी की सुरक्षा के लिए 24 घंटे सीआरपीएफ कमांडो तैनात रहेंगे। हालांकि बाद में असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में पूरे घटनाक्रम का ब्योरा देते हुए कहा था कि वह जेड कैटगरी की सुरक्षा नहीं लेंगे।

हमलावरों ने किया चौंकाने वाला खुलासा
वहीं असदुद्दीन ओवैसी की कार पर हमला करने वाले हमलावरों ने हापुड़ पुलिस की पूछताछ के दौरान खुलासा किया है कि ओवैसी कार में नीचे की ओर झुके थे, इसलिए कार पर नीचे की ओर गोली चलाई थी। हमलावरों को उम्मीद थी कि हमले में ओवैसी की मौत हो चुकी होगी। वहीं हापुड़ के एसपी दीपक भूकर ने इस बात की पुष्टि की है कि हमलावरों सचिन और शुभम के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत भी एफआईआर दर्ज की गई है। एफआईआर सचिन और शुभम से बरामद अवैध पिस्तौल व कारतूस के आधार पर दर्ज की गई है। वहीं सचिन से पूछताछ में जो बातें सामने आई हैं, उनका जिक्र एफआईआर में भी किया गया है।