Wednesday , February 8 2023

2022 में सपा सरकार बनी तो किसानों के लिए क्या करेंगे अखिलेश यादव? यूपी के किसानों और मतदाताओं से कर दी बड़ी अपील

लखनऊ. सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अन्न हाथ में लेकर बीजेपी को हटाने का संकल्प लिया। प्रदेश के हर किसान और आम मतदाता से लखीमपुर के किसानों की शहादत को याद करते हुए भाजपा को हराने के लिए ‘अन्न संकल्प’ लेने की अपील की। पार्टी कार्यालय पर आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने किसानों के लिए वादों की झड़ी लगाते हुए कहा कि किसान आंदोलन के दौरान जिन किसानों की जान गई है, सपा की सरकार बनने पर मृतक आश्रितों को 25 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। साथ ही किसानों पर दर्ज किए गये सभी केस वापस लिए जाएंगे।

सपा प्रमुख ने कहा कि समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र में किसानों की एक-एक बात को शामिल किया है। मसलन, सभी फसल के लिए एमएसपी तय किया जाएगा और गन्ना किसानों का 15 दिन के भीतर भुगतान मिलेगा। इसके लिए भले ही अलग से रिवॉल्विंग बजट बनाना पड़ेगा। इस दौरान उन्होंने किसानों के लिए मुफ्त बीमा योजना और सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली का वादा भी किया। मौका था लखीमपुर खीरी से आए किसान तेजिंदर सिंह विर्क के सपा में शामिल होने का। विर्क लखीमपुर खीरी के तिकुनिया हिंसा में मंत्री के बेटे की कार से कुचले जाने से गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

किसान ने अखिलेश यादव को दिलाया अन्न संकल्प
किसान तेजिंदर सिंह विर्क ने अखिलेश यादव को भाजपा को हराने का अन्न संकल्प दिलाया। अखिलेश ने हाथ में अनाज लेकर संकल्प लिया, ‘हम सभी लोग संकल्प लेते हैं कि जिन्होंने किसानों पर अन्याय और अत्याचार किया उनको हटाएंगे, हराएंगे। यह हमारा अन्न संकल्प है। जय जवान, जय किसान। सपा मुखिया ने इसके साथ ही किसानों के लिए ‘फार्मर्स रिवाल्विंग फंड’ बनाने का भी संकल्प लिया।

परिवार में सब ठीक है, भाजपा चिंता न करे: अखिलेश यादव
अपर्णा यादव के बीजेपी में शामिल होने की अटकलों से प्रदेश का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। चर्चा है कि भाजपा उन्हें लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से प्रत्याशी बना सकती है। मामले में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि उनको हमारे परिवार की चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमारे परिवार में सब ठीक है। अखिलेश ने कहा कि यूपी चुनाव के लिए बड़े-बड़े षड़यंत्र औऱ साजिश की जा रही है। वहीं, शिवपाल यादव ने कहा कि सच क्या है, यह अपर्णा ही जानती हैं। लेकिन, मेरी राय है कि सपा में रहकर ही उन्हें काम करना चाहिए, क्योंकि राजनीति में एकदम से कुछ नहीं मिलता।