Saturday , January 28 2023

रसोई गैस सिलेंडर पर मिलता है 50 लाख का बीमा, जानें कब और कैसे कर सकते हैं क्‍लेम?

दिल्ली. 50 lakh rupees insurance on LPG Gas cylinder: आज के जमाने में एलपीजी सिलेंडर (LPG Cylinder) घर-घर पहुंच गया है। हालांकि एलपीजी गैस (LPG Gas) बेहद ज्‍वलनशील होने के कारण कई बार दुर्घटना का सबब भी बन जाती है। ऐसे में इसका इस्‍तेमाल करते बेहद सावधानी पूर्वक करना चाहिये। कभी-कभी लोगों को सही जानकारी न होने या रखरखाव में चूक की वजह से सिलेंडर फटने की घटनाएं सामने आती हैं। ऐसे में आपको यह पता होना चाहिए कि अगर LPG सिलेंडर फट जाए या गैस लीक होने की वजह से कोई बड़ा हादसा हो जाए, तो एक ग्राहक होने के नाते आपके पास क्या अधिकार हैं? ज्यादातर लोगों को इस बारे में नहीं पता होता है कि पेट्रोलियम कंपनियां इस पर 50 लाख रुपये का बीमा भी देती हैं। और तो और इसके लिए ग्राहक को अलग से कोई प्रीमियम भी नहीं देना पड़ता है। हालांकि एलपीजी सिलेंडर लेने से पहले ग्राहक को भी डीलर डिलिवरी से पहले सावधानी बरतनी चाहिए और डिलीवरी लेते समय चेक करें कि सिलेंडर बिल्कुल ठीक है या नहीं।

ग्राहक को मिलता है पर्सनल एक्सीडेंट कवर
आपको बता दें कि LPG यानी रसोई गैस कनेक्शन लेने पर पेट्रोलियम कंपनियां (Petroleum Companies) ग्राहक को पर्सनल एक्सीडेंट कवर (Personal Accident Cover) उपलब्ध कराती हैं। 50 लाख रुपये तक का यह इंश्योरेंस (50 Lakh Rupees Insurance) एलपीजी सिलेंडर से गैस लीकेज या ब्लास्ट के कारण हादसा होने की स्थिति में आर्थिक मदद के तौर पर दिया जाता है। इस बीमा के लिए पेट्रोलियम कंपनियों की बीमा कंपनियों के साथ साझेदारी रहती है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां गैस सिलेंडर लेने वाले सभी ग्राहकों को इस सुविधा का लाभ देती हैं। ऐसो में ग्राहक के घर पर एलपीजी सिलिंडर की वजह से हादसे में हुए जान माल के नुकसान के लिए पर्सनल एक्सीडेंट कवर दिया जाता है। हादसे में ग्राहक की प्रॉपर्टी/घर को नुकसान पहुंचता है तो प्रति एक्सीडेंट 2 लाख रुपये तक का इंश्योरेंस क्लेम मिलता है।

ऐसे करें क्लेम
सिलेंडर से हुई दुर्घटना के बाद क्लेम लेने का तरीका सरकारी वेबसाइट मायएलपीजी.इन (http://mylpg.in) पर दिया गया है। वेबसाइट के मुताबिक एलपीजी कनेक्शन लेने पर ग्राहक को उसे मिले सिलेंडर से यदि कोई दुर्घटना होती है तो वह व्यक्ति 50 लाख रुपये तक के बीमा का हकदार हो जाता है। दुर्घटना से पीड़ित प्रत्येक व्यक्ति को अधिकतम 10 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति दी जा सकती है। मृत्‍यु हो जाने पर पर्सनल एक्‍सीडेंट कवर के रूप में प्रति व्‍यक्ति 6 लाख रुपये का क्‍लेम मिलता है। वहीं हर दुर्घटना पर इलाज खर्च के रूप में अधिकतम 30 लाख रुपये मिलते हैं, जिसमें प्रति व्‍यक्ति 2 लाख रुपये दिया जाता है।

क्‍लेम के लिये क्‍या करना होगा

  • गैस सिलेंडर में दुर्घटना होने पर सबसे पहले नजदीकी पुलिस स्‍टेशन और अपने एलपीजी वितरक को इसकी जानकारी देनी होगी।
  • संबंधित एरिया से जुड़ी कंपनी के ऑफिस से लोग हादसे के कारणों की जांच करते हैं।
  • अगर हादसा एलपीजी सिलेंडर की वजह से हुआ है तो डिस्‍ट्रीब्‍यूटर अथवा एरिया ऑफिस इसकी जानकारी बीमा कंपनी को देती है।
  • जांच रिपोर्ट देखने के बाद कंपनी में क्‍लेम फाइल होता है, जिसके लिए ग्राहक को सीधे कंपनी में आवेदन करने या संपर्क करने की जरूरत नहीं होती।
  • लाभ लेने के लिये पीडि़त को FIR की कॉपी, घायलों के इलाज के पर्चे और मेडिकल बिल के अलावा मौत की स्थिति में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और मृत्यु प्रमाणपत्र संभाल कर रखना चाहिए।